MPSC Success Tips in Hindi: सफलता के 11 सरल एवं प्रभावी सूत्र

MPSC Success Tips in Hindi क्या आपको पता है २०१९ में MPSC के कुल ४३१ पदों के लिए ३.६ लाख लोगों ने आवेदन किए थे। जिनमें से सिर्फ ६८२५ विद्यार्थियों को शॉर्टलिस्ट किया गया था। ज़ाहिर है इनमें से ४३१ लोगों का चयन हुआ।

इक्कीसवीं सदी की नई सोच के साथ अपने प्रदेश को बदलने का जज़्बा लिए हर साल लाखों नवुवक/नवयुवती MPSC की परीक्षा देते हैं। जिनमें से सिर्फ़ कुछ के सपने साकार होते हैं तथा कुछ मायूस होकर राह बदल लेते हैं और कुछ उम्मीद का दिया लिए कड़ी मेहनत पर विश्वास कर अगले साल की तैयारी में लग जाते हैं।

देशभक्ति का ये जज़्बा वाकई काबिले तारीफ है। सोचने वाली बात यह है कि ऐसा क्या खास होता है उनमें जो इन पदों को हासिल करते हैं?इस पोस्ट में आपको कुछ ऐसे टिप्स मिलेंगे जो आपकी इस यात्रा में लाभदायक सिद्ध हो सकते हैं।

What is MPSC exam in Hindi

यदि आप नए हैं और इस शब्द से अनभिज्ञ हैं तो आपको बता दूं कि MPSC अर्थात Maharashtra public Service Commission जिसे हिंदी में महाराष्ट्र लोकसेवा आयोग कहते हैं। MPSC परीक्षा के ज़रिए सरकार उन पदों का चयन करती है जो लोक सेवा में अपना सहयोग दे सकें।

MPSC Success Tips In Hindi महाराष्ट्र लोकसेवा आयोग ने सफलता पाने के टिप्स

सबसे पहले आपको यह बता दूं कि जहां पर ४०० पदों के लिए ४ लाख लोग तैयारी करते हैं वहां सफलता पाने के लिए आपको कुछ Unique तरीका अपनाने की आवश्यकता है।

देखते हैं, कैसे आप स्वयं को भीड़ से भिन्न रखकर सफलता हासिल कर सकते हैं।

१- MPSC Success Tips अपने लक्ष्य को विशिष्ट तथा स्पष्ट बनाएं

MPSC एक ऐसी परीक्षा है जिसमें आप सिर्फ एक नहीं बल्कि जीवन भर परीक्षा देते रहेंगे। कहने का अर्थ है कि जितनी बड़ी जिममेदारी होती है उतने बड़े फैसले लेना पड़ता है।

इस परीक्षा को सिर्फ अपने जीवन या कैरियर तक ही सीमित रखकर लक्ष्य ना बनाएं। लोकसेवा में आप भविष्य में क्या योगदान देंगे, किस तरह समाज को बेहतर बनाएंगे? यदि लक्ष्य बड़ा रखेंगे तो परीक्षा में सफलता आसान हो जाएगी।

Also Read: Subconscious Mind in Hindi: 7 Easy Ways to Activate Its Power

२- MPSC Success Tips शिक्षा तथा विचारों को गहराई में समझें

जैसा कि ऊपर आपने पढ़ा कि यह सफलता मात्र आपके जीवन को नहीं बल्कि लाखों करोड़ों जीवन को प्रभावित करेगी। इसलिए परीक्षा में आने वाले प्रश्नों, किताबों तक ही सीमित ना रहें।

जीवन के बड़े बड़े सबक बाहरी दुनिया में सीेखने के लिए मिलते हैं, इसलिए अपने विचारों के दायरे को बढ़ाएं। जितना बड़ा आपके विचारों का दायरा होगा, उतना अधिक ज्ञान आपके पास होगा। जो आपकी सफलता में महत्वपूर्ण सामग्री है।

३- MPSC Success Tips समय सारणी अपनाएं [Time-Table]

MPSC Success Tips in Hindi/ Time-Table

सफ़लता का सबसे गहरा राज़ यह है कि आप अपने समय का किस प्रकार प्रयोग करते हैं! समय का भरपूर उपयोग करने के लिए समय सारणी अवश्य बनाएं।

इस समय सारणी में सभी बातों को स्थान दें, जैसे कि खेल- कूद, सिलेबस सम्बन्धी पढ़ाई, दोहराने के लिए अलग समय इत्यादि। कुछ समय ऐसे लोगों के साथ भी बिटाएं जो आपकी ही तरह तैयारी कर रहे हैं, उनके साथ ज्ञान का आदान प्रदान करें। इस तरह आप दूसरों से जुड़े रहने के साथ समय का दोहरा प्रयोग करेंगे।

४- MPSC Success Tips पूर्व सफ़ल परीक्षार्थियों को पढ़ें

समय के साथ नियम कानून और परीक्षा तथा प्रोसेस सब कुछ बदलता रहता है। इंटरनेट का शुक्रिया कि बहुत कुछ ज्ञान आसानी से उपलब्ध है।

समय सारणी में उन लोगों के बारे में पढ़ना और सुनना ज़रूर जोड़ें जो इस क्षेत्र में सफल हो चुके हैं। उनकी बातों पर गौर करें, छोटे छोटे टिप्स अक्सर बड़ी सहायता करते हैं।

उनकी दिनचर्या पर ध्यान दें, उसी में आपको बहुत कुछ सीखने के लिए मिलेगा। अकसर सफ़लता दिन प्रतिदिन की जाने वाली क्रियाओं में छिपी होती है।

५- गिनती के बजाय गुणवत्ता पर ध्यान दें

आप जो कुछ भी पठन सामग्री, किताबें, मैगज़ीन, अख़बार पढ़ते हैं, उनमें चुनिंदा को महत्व दें। इनका चयन करने से पहले इनकी सत्यता की परख करें और वही पढ़ें जिसमें आपको अधिकतर तथा सच्चा ज्ञान मिले।

अकसर सामान्य ज्ञान बढाने के चक्कर में बहुत कुछ इकट्ठा कर लेते हैं। फिर बस मन भटकने लगता है क्या पढ़ें क्या नहीं।

इसलिए बहुत सारा एकत्रित ना करें। बल्कि जो सबसे ज्यादा ज्ञानवर्धक हो उसी का अभ्यास करते रहें।
वैसे भी जब आप फोकस होते हैं तो जो चीजे आवश्यक और महत्वपूर्ण होती है, वह कहीं ना कहीं से आपको मिल ही जाएगी।

६- MPSC Success Tips शुद्ध आहार तथा शुद्ध विचार अपनाएं

शुद्ध आहार में मेरा तात्पर्य है कि भोजन में ताज़े फल और सब्जियों की मात्रा बढ़ाएं। पके हुए भोजन में शाकाहार का सेवन करें। पके हुए भोजन की अपेक्षा कच्चे फलों से आपको ज्यादा ऊर्जा और ताज़गी मिलेगी।

शुद्ध विचारों का अर्थ है, सकारात्मक रहें, मन में नकारात्मक विचार लाने वाले लोग और सोशल मीडिया इत्यादि से दूर रहें। यदि आप अपनी तैयारी की दौरान ब्रह्मचर्य का कड़ाई से पालन करते हैं तो आपकी सफलता निश्चित है।

७- MPSC Success Tips पुराने प्रश्नपत्रों को समझें तथा सुलझाएं

हालांकि समय के साथ प्रश्न घुमा फिरा कर आते हैं, किन्तु यदि गौर किया जाए तो पुराने प्रश्नों के तरीके से ही बदलाव किए जाते हैं। इसलिए समय सारणी से कूच समय प्रश्न पत्रों को सुलझाने के लिए दें। उनके तरीकों को समझें, ताकि ऐसा कोई भी प्रश्न आएगा तो फॉर्मूला आपको पता होगा।

यदि आप पिछले पांच साल के प्रश्न पत्रों का गहराई से अध्ययन कर लेते हैं तो समझिए आपका काफ़ी सारा काम यहीं हो जाता है। ऐसी परीक्षाओं में अक्सर दिमागी सवालों के कुछ अंश होते हैं, इन्हें सुलझाने से आपका मानसिक व्यायाम भी हो जाता है।

८- MPSC Success Tips in Hindi दोहराना सफलता की चाबी है

MPSC Success Tips in Hindi/ Success key

रिविज़न अर्थात पढ़े हुए को बार बार दोहराना, ना सिर्फ याददाश्त बढ़ाता है बल्कि आपके मस्तिष्क पटल पर छप जाता है। ये छप इतनी गहरी होती है कि सालों नहीं बल्कि आजीवन कायम रहती है।

इसलिए रटें नहीं बल्कि उसे समझकर लें। दोहराने के कई तरीके हैं, जिनमें से सबसे कारगर है कि या तो किसी के साथ साझा करें या कोई अन्य काम करते समय मन में दोहराएं।

जितनी बार आप इस प्रकार रिवीजन करेंगे उतनी ही गहराई में, तथा इतने ही लंबे समय तक उत्तर आपके दिमाग में रहेगा।

९- MPSC Success Tips फ़ोकस- केंद्रित दिमाग को सीधी बनाएं

फ़ोकस रहें अर्थात अपने लक्ष्य को पूरी तरह केंद्रित रहें। प्रतिदिन सुबह उठने के बाद और रात को ठीक सोने से पहले अपने लक्ष्य को मानस पटल पर चलाएं।

दूसरे शब्दों में कहूं तो अपनी सफलता की एक पूर्व तस्वीर बनाएं जिसे एक वीडियो का रूप दें। जैसे कि पास होने के बाद अथवा पद हासिल करने के बार कैसा महसूस करेंगे, लोगों का आपको बधाई देना, इत्यादि। इन सबको दो तीन मिनट की वीडियो की तरह हर रोज़ चलाएं।

यह प्रक्रिया ना सिर्फ आपको फ़ोकस रखेगी बल्कि इस मौके को सच करने के लिए आपके अवचेतन मन को संदेश देती रहेगी। फ़ोकस बढ़ाने के कुछ सरल किन्तु रचनात्मक तरीकों के बारे में यहां पढ़ें।

Mind Concentration Tips in Hindi: 9 Ways to Increase Focus

१०- MPSC Success Tips मानसिक तथा शारीरिक व्यायाम को दिनचर्या में शामिल करें।

अक्सर देखने के लिए मिलता है कि तैयारी में इतना व्यस्त हो जाते हैं कि शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य को पूरी तरह अनदेखा कर देते हैं। कभी कभी कुछ लोग शारीरिक व्यायाम कर लेते हैं किन्तु मानसिक व्यायाम तो सोचते भी नहीं।

अति आवश्यक है कि अपनी दिनचर्या में शारीरिक व्यायाम या क क्रिकेट, फुटबॉल, बैडमिंटन इत्यादि के लिए समय निकालें। यह सिर्फ आपको शारीरिक रूप से। फिट ही नहीं बल्कि मानसिक रूप से ताज़गी देता है, जिसके बाद आप नए उत्साह के साथ पढ़ाई फोकस कर पाएंगे।

मानसिक व्यायाम से मेरा तात्पर्य है कि कोई खेल जैसे कि चेस या फिर बिजनेस जैसे खेल को भी समय दें। इससे क्रिटिकल थिंकिंग में तीव्रता बढ़ती है।

सबसे महत्वूर्ण है कि किसी भी परिस्थिति से निपटने के लिए स्वयं को शांत रखना। इसलिए कम से कम ३०-४० मिनट प्रतिदिन ध्यान मेडिटेशन करें। इससे आपकी फ़ोकस प्रक्रिया में भी मदद होगी।

Also Read: Meditation Benefits for Brain in Hindi: 7 Amazing Benefits to Boost Your Life

११- MPSC Success Tips सफलता का प्रथम पड़ाव – आत्मविश्वास

MPSC Success Tips in Hindi/ Self-Confidence

हालांकि इसे मैंने सबसे आखिरी में लिखा क्योंकि अक्सर लोग इस एक के बाद बाकी बारीकियों पर ध्यान नहीं देते।

सिर्फ़ आत्मविश्वास स्वयं को धोखा देना है जो आजकल के अधिकतर नवयुवकों की कमजोरी बन गई है। ज्ञान, ज्ञान का प्रतिदिन अभ्यास और उसके बाद आपका विश्वास ना सिर्फ़ दोगुना होता है बल्कि सफलता भी दिलाता है। इसलिए अपनी काबिलियत पर विश्वास रखें, मेहनत करें, सफ़लता आपके कदम चूमेगी।

MPSC Success Tips in Hindi – FAQS

१- MPSC पास होने के लिए कितने घंटे पढ़ने की आवश्यकता है?

उत्तर: जैसा कि आपको पता है कि इस परीक्षा का सिलेबस असीमित है, इसलिए आपको संपूर्ण समर्पण के साथ ८-१० घंटे पढ़ने चाहिए। बाकी जैसा ऊपर बताया है कि बाकी बातों का संतुलन रखें।

२- क्या पहली बार में MPSC पास किया जा सकता है?

उत्तर: बिल्कुल किया जा सकता है। सच पूछा जाए तो आपकी कोशिश पहली बार में पास होने की होनी चाहिए। इस माइंडसेट के साथ तैयारी करेंगे तो यह संभव है।

३- क्या MPSC परीक्षा कठिन है?

उत्तर: बिल्कुल, क्योंकि यह परीक्षा स्कूल या कॉलेज से भिन्न होकर राज्यस्तरीय परीक्षा है। जहां पर प्रतियोगिता और विषय दोनों ही अधिक है।

४- MPSC और UPSC में बेहतर कौन है?

उत्तर: दोनों ही अलग स्तर की परीक्षा हैं। MPSC राज्य स्तर पर है जबकि UPSC राष्ट्र स्तर पर होने वाली परीक्षा है। अब आप समझ गए होंगे कि दोनों का अपना अलग महत्व है।

Final Words: उम्मीद है आप इन MPSC Success Tips को अपनाकर आपके लक्ष्य को हासिल करने में सफल होंगे। आपके इस कदम को सलाम तथा मेरी तरफ़ से आपको ढेरों शुभकामनाएं!

Advertisement

Leave a Reply

%d bloggers like this: