Essay on Earth Day: 9 Amazing Activities In Hindi- MysticMind

Essay on Earth Day- पृथ्वी दिवस  Earth Day जलवायु में परिवर्तन, बढ़ता हुआ प्रदूषण, वृक्षों की कटाई तथा प्लास्टिक कचरे जैसे महत्वपूर्ण मुद्दों को उजागर करने के लिए मनाया जाता है।

पृथ्वी दिवस Earth Day का उद्देश्य मात्र पर्यावरण संबंधी समस्याओं से लोगों को अवगत कराना ही नहीं अपितु निवारण कार्य में भाग लेने के लिए प्रोत्साहित करना भी है।

हर साल २२ अप्रैल को हम पृथ्वी दिवस के रूप में मनाते हैं। यह समारोह सर्वप्रथम २१ मार्च १९७० में हुआ था। यह दिन पर्यावरण आंदोलन के जन्म की सालगिरह का दिन है।

इस साल अर्थात २२ अप्रैल २०२० को सारा विश्व पृथ्वी दिवस  की ५० सालगिरह मना रहा है।

Essay on Earth Day- पृथ्वी दिवस का महत्व

हम भारतीयों की सभ्यता है कि हमने इस धरा को अपनी माता का दर्जा दिया है। इसलिए हमारा दायित्व है कि हम इसकी सुरक्षा करें। ये धरती हमने खाने के लिए अन्न, पहनने के लिए वस्त्र तथा रहने के लिए मकान देती है। इसलिए जीवन का एक लक्ष्य इस धरा की सुरक्षा भी  होना चाहिए।

earth-day-earth-save-earth-environment

 

Essay on Earth Day-

हम पृथ्वी दिवस Earth Day को सफल बनाने के लिए कैसे योगदान दे सकते हैं!

१- वृक्षारोपन
वृक्ष ना सिर्फ इंसानों के लिए बल्कि इस पृथ्वी पर पाए जाने वाले हर जीव के लिए उपयोगी है। यह हमें सिर्फ आक्सीजन ही नहीं बल्कि बहुत सारी उपयोगी सामग्री देते हैं।

यदि आप अपने क्षेत्र को हरा भरा देखना चाहते हैं तथा पर्यावरण का संतुलन बनाए रखना चाहते हैं तो इस पृथ्वी दिवस Earth Day पर कम से कम एक पौधा अवश्य लगाएं।

२- Essay on Earth Day- प्लास्टिक बैग की जगह कपड़े का बैग इस्तेमाल करें Earth Day

भारत सरकार कई सालों से इस कोशिश में लगी हुई है कि प्लास्टिक का उपयोग खत्म हो जाए।

फिर भी हम सबकी जिम्मेदारी है कि हम अपने साथ हमेशा एक कपड़े से बना बैग रखें जिससे हमें कभी प्लास्टिक बैग की ज़रूरत ना पड़े।

३- Earth Day शाकाहार अपनाएं

मांसाहार का परिणाम है कोराना वायरस जैसी महामारी, जिसके डर से आज सारा विश्व घरों में बैठने के लिए मजबूर है। Earth Day

प्रकृति का अपना जीवन चक्र है। जो अपने हिसाब से चलता रहता है। हमारी पृथ्वी हमें इतना अनाज देती है कि हम शाकाहारी जीवन अपनाकर रोगमुक्त और खुशहाल जीवन जी सकते हैं।

४- Essay on Earth Day- पैदल चलें तथा सायकिल का प्रयोग करें

क्या आपको पता है विश्व का सबसे कम प्रदूषित देश जापान है? क्योंकि वह लोग आज भी ऑफिस जाने के लिए सायकिल का प्रयोग करते हैं।

आप ऑफिस जाने के लिए नहीं लेकिन थोड़ी दूर जाने के लिए मोटर सायकिल या कार के बजाय पैदल चलें या सायकिल का प्रयोग करें। इससे आपकी सेहत और पर्यावरण दोनों को लाभ होगा।

५- Earth Day- मॉल के बजाय लोकल बाज़ार जाएं

समय बचाने के लिए हम मॉल चले जाते हैं। इसमें कुछ गलत नहीं है किन्तु यदि आप छोटी दुकानों से और लोकल बाज़ार से सब्जी और अन्य घर के समान खरीदेंगे तो हमारे देश के किसान का प्रोत्साहन बढ़ेगा जिसका सीधा असर कृषि विभाग पर पड़ता है।

जो हमारे देश की इकोनॉमी और पर्यावरण दोनों के लिए लाभदायक होगा।

६- Essay on Earth Day- पेपरलेस बिल का उपयोग करें

टेक्नोलॉजी के बढ़ते युग ने हमारे पर्यावरण पर काफ़ी प्रभाव डाला है। क्यों ना इसका फायदा उठाया जाए। पेपर बिल के बजाय आप ऑनलाइन बिल ले सकते हैं। Earth Day

जिससे पेपर की बचत होगी। कम पेपर का उपयोग होगा तो वृक्षों की कटाई कम होगी जो पर्यावरण के लिए लाभदायक होगा।

७- Earth Day- जैविक खादों का उपयोग करें 

दुर्भाग्यवश बढ़ती जनसंख्या और कम होती फसल को बढ़ाने के लिए आजकल कृत्रिम खादों का उपयोग किया जाने लगा है। जो ना ही हमारे स्वास्थ्य के लिए अच्छा है ना ही ज़मीन के लिए।

अपने घर से निकलने वाले कचरों से जैविक खाद बनाएं और उसका उपयोग अपने बगीचे और खेतों में करें।

save earth

Also Read: Mahamrityunjay Mantra In Hindi: Why And When to Chant

८- Essay on Earth Day- नदी, समुद्र और तालाबों की सफ़ाई का ध्यान रखें 

जल के बिना जीवन संभव नहीं है। सो, समय समय पर इन जलस्रोतों की साफ़ सफ़ाई अति आवश्यक है।

इस पृथ्वी दिवस Earth Day पर एक वायदा करें कि अगली बार जब भी आप किसी समुद्र तट पर जाएंगे वहां कचरा ना फैलाकर साफ़ सफ़ाई पर ध्यान देंगे।

९- सबसे महत्वपूर्ण है कि अच्छे कामों में लोगों को निमंत्रित कीजिए। कहते हैं एक से भले दो तो, अपने आस पास के रहने वालों को भी पर्यावरण संबंधी समस्याओं से अवगत कराएं तथा उन्हें योगदान के लिए प्रोत्साहित करें।


Final Words: यदि आपको यह Essay on Earth Day लेख अच्छा लगा हो तो लाईक करें, कॉमेंट करें और सोशल मीडिया पर शेयर करना ना भूलें।

धन्यवाद

Sharing is Caring!

 

Leave a Reply

%d bloggers like this: