Yoga Mudra For Sleep in Hindi: 4 मुद्राएं जो अनिद्रा की समस्या दूर करे

Yoga Mudra For Sleep in Hindi सही भोजन और पर्याप्त मात्रा में नींद की पूर्ति होना ही शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य की कुंजी है। दुर्भाग्यवश आज के इस मशीनी युग में, ना भोजन सही है न ही सोने का समय और तरीका।

विज्ञान ने भी इस बात की पुष्टि की है है कि अच्छे स्वास्थ्य के लिए कम से कम छः घंटे की रात्रि नींद अनिवार्य है। तो, सोचिए आप कितनी देर तक सुकून की नींद अर्थात बिना किसी सपने और रुकावट की नींद सोते हैं।

मनुष्य की ज्यादा सोचने की आदत और देर रात तक मोबाइल अथवा कंप्यूटर पर काम करने के कारण आंखों के साथ साथ सोने की आदत में भी खराबी आती है।

अनिद्रा Insomnia के कारण न सिर्फ शारीरिक बीमारियां बल्कि मानसिक तनाव भी तेज़ी से बढ़ रहे हैं। यही कारण है कि लोग नींद की गोलियों के साथ अन्य नुकसानदाई एवं नशीली चीजों का प्रयोग करने लगे हैं।

ये हानिकारक तत्व बेसुध नींद के साथ कई शारीरिक एवं मानसिक रोग भी निमंत्रित करते हैं जो धीमे जहर की भांति काम करता है।

MysticMind के इस आर्टिकल में हम आपके लिए Yoga Mudra For Sleep के साथ कुछ Yoga Asanas for Sleep लेकर आए हैं जो आपके तनाव, थकान को कम करने में सहायक है। साथ ही शरीर को शिथिल एवं मस्तिष्क की गति को धीमी कर आपको आसानी से सोने के लिए तैयार कर देंगी।

यदि आप इन मुद्राओं का अभ्यास करेंगे तो मेरा दावा है एक दो मुद्राएं का चक्र पूरा होने से पहले ही आप निद्रा देवी की गोद में सो जायेंगे।

Sone se pahle Yoga का अभ्यास ना सिर्फ़ बेहतर Sleeping में मदद करता है बल्कि कई रोगों से भी मुक्त करता है।

आइए देखते हैं वह कौन कौन सी मुद्राएं Yoga Mudra For Sleep  हैं जिनका सोने से पहले किया गया अभ्यास अनिद्रा की समस्या दूर करता है। इन मुद्राओं के अभ्यास से न सिर्फ़ अनिद्रा बल्कि अपच, घबराहट एवं अन्य कई समस्याएं दूर होती हैं।

१- Pushpanjali Mudra पुष्पांजलि मुद्रा

जब हम Yoga Mudra For Sleep की बात करते हैं तो सबसे पहले प्रचलित पुष्पांजलि मुद्रा का नाम याद आता है। यह मुद्रा अत्यंत सरल किन्तु प्रभावी मुद्रा है।

Yoga Mudra For Sleep- पुष्पांजलि मुद्रा अभ्यास कैसे करें

१- इस मुद्रा के लिए सोने से पहले बिस्तर पर पद्मासन में बैठ जाएं। चार से पांच लंबी गहरी सांस लें इससे सांसों को नियंत्रित तथा दिमाग को शांत करने में मदद मिलती है।

२- अब दोनों हाथों को जोड़कर अंजलि बनाएं , दोनों हाथों की कनिष्ठा उंगली को एक दूसरे से मिलाएं।

३- शेष सभी उंगलियों को एक दूसरे से चिपकाकर रखें।

४- हाथों को ऊपर कर जैसे भाग्यं को अर्घ्य दिया जाता है उस अवस्था में करें। आंखें बंद करें।

५- जैसा कि नाम से ही समझ में आता है कि यह मुद्रा पुष्प अर्पित करने के लिए जो अंजलि बनाते हैं बिल्कुल वैसी है।

६- आंखें बंद कर अंजलि में हो रहे परिवर्तन को महसूस करने की कोशिश करें। इस मुद्रा के अभ्यास के दौरान मन में इस बात का विचार करें के आप आज का दिन, सारी समस्याएं, सारे तनाव सब कुछ अर्पित कर खाली हो रहे हैं।

७- कम से कम दस से पंद्रह मिनट इस मुद्रा का अभ्यास करें। आपको अवश्य नींद आने लगेगी।

२- Yoga Mudra For Sleep- Yoga Nidra योग निद्रा

ये सच है कि योग मुद्राएं एवं कुछ विशेष मुद्राओं के अभ्यास से कुछ ही मिनटों में गहरी नीद में सोता जा सकता है। किंतु योग निद्रा एक ऐसी विधि है जिससे आप न सिर्फ़ सुखद एवं शांत नींद का अनुभव कर सकते हैं बल्कि साथ हो अपने अवचेतन मन को एक नई दिशा देकर जीवन में अन्य सुखद बदलाव ला सकते हैं।

Yoga Mudra For Sleep दूसरे शब्दों में कहूं तो योग निदा के माध्यम से आप सोते समय भी अपने मस्तिष्क कोकाम पर लगा सकते हैं।

अवचेतन मन ही मनुष्य के भीतर वह जादुई शक्ति है जिसके माध्यम से अमीर दिन प्रति दिन अमीर और सुखी बनता जाता है। योग निद्रा के अभ्यास से बाद जिस जादुई निद्रा का अनुभव आप कर सकेंगे उसका वर्णन सिर्फ़ आप कर सकते हैं।

जल्दी नींद के लिए योग निद्रा कैसे करें एवं इसके लाभ

३- Yoga Mudra For Sleep/ Gyan Mudra ज्ञान मुद्रा

दुनियाभर में प्राचीन समय से लेकर अब तक सर्वाधिक अभ्यासकी जाने वाली मुद्रा ध्यान मुद्रा है। इस मुद्रा के अभ्यास से मस्तिष्क शांत होने लगता है एवं तनाव दूर होकर शरीर शिथिल हो जाता है।

अनिद्रा का सबसे मुख्य कारण चिंता, तनाव अथवा अधिक सोचना है। ज्ञान मुद्रा का सोने से पहले दस मिनट किया गया अभ्यास मन को शांत कर तनाव दूर कर देता है।

Yoga Mudra For Sleep शरीर से तनाव दूर होते ही और मन शांत होते ही नींद आने लगती है। इस मुद्रा के अभ्यास से मनुष्य जीवन के सभी भेदों को जानने के सक्षम हो जाता है।

जीवन ज्ञान का भान मात्र ही सभी चिंताओं से मुक्त करने के लिए काफ़ी है। इसलिए आसानी से एवं सुखमय नींद के लिए ज्ञान मुद्रा का अभ्यास सोने से पहले अवश्य करें।

सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि सोने से पहले की जाने वाली मुद्रा एवं आसन को आप बिस्तर पर ही कर सकते हैं।

ज्ञान मुद्रा का अभ्यास कैसे करें एवं इसके लाभ

४- Yoga Mudra For Sleep- Shavasana शवासन

योग निद्रा के बाद जो सबसे सहज एवं प्रभावी आसन नींद लाने में सक्षम है वह है शवासन। वैसे तो शवासन का अभ्यास योगासनों के अभ्यास के अंत में किया जाता है। किंतु दिन भर के थके हारे होके के बाद जब आप इस आसन का अभ्यास करते हैं तो कुछ ही मिनट में नींद आ जाती है।

शवासन का काम ही है शरीर और मन से किसी भी प्रकार के तनाव को खत्म कर शरीर को आराम दे। जैसा कि नाम से ही साफ़ है इस आसन में शरीर को शव के समान बना दिया जाता है।

Yoga Mudra For Sleep सबसे आसन से इस आसन के अभ्यास से कुछ ही मिनटों में आप चिंतामुक्त भयमुक्त होकर सो सकते हैं।
शवासन का अभ्यास कैसे करें।

१- बिस्तर पर आराम से शरीर को बिल्कुल ढीला छोड़कर लेट जाएं। इससे पहले ध्यान रखें कि कमरे में पर्याप्त मात्रा में हवा आती हो एवं अधिक रोशनी न हो।

२- दोनों पैरों एवं हाथों को एक दूसरे से दूर रखें एवं शरीर को बिल्कुल शिथिल कर दें।

३- पैरों की उंगलियों से लेकर सिर तक। एक एक अंग में ध्यान को ले जाएं और सुनिश्चित करें कि कहीं भी किसी भी प्रकार का तनाव तो नहीं है।

४- ध्यान को सम्पूर्ण शरीर में घुमाकर लाने के बाद अपनी सांसों पर टिका दें। बस सांसों को बाहर आते और जाते हुए महसूस करते रहें।

५- मुझे पूरे उम्मीद है कि ध्यान को शरीर में घुमाते समय बीच में ही आप सो जायेंगे। यदि फिर भी नींद नहीं आई तो एक और बार ध्यान को सम्पूर्ण शरीर में घुमाएं और सांसों पर ध्यान दें।

शवासन का कुछ मिनट का अभ्यास अनेक शारीरिक एवं मानसिक लाभ देकर अगले दिन सुबह आपको तारोताज़ा महसूस कराएगा।

Also Read: Pran Mudra for Sleep जल्दी सोने के लिए प्राण मुद्रा का अभ्यास

Mudra To Avoid Sleep After Lunch

कई बार भोजन अधिक करने के कारण अथवा भारी भोजन जैसे कि अधिक तला हुआ खाने के बाद नींद आने लगती है। शरीर और मन दोनों ही आलस से भर जाता है।

ऐसे में चिन मुद्रा के कुछ मिनटों का अभ्यास शरीर को ऊर्जावान एवं आलस मुक्त बनाता है तथा आपकी कार्य क्षमता को बढ़ा देता है।

चिन मुद्रा कैसे करें एवं इससे होने वाले लाभ

Final Words: उम्मीद है, इन Yoga Mudra For Sleep में से किसी एक मुद्रा या आसन का अभ्यास कर आप अनिद्रा एवं अनिद्रा से होने वाली अन्य समस्याओं से मुक्ति पा लेंगे।
अपना अनुभव अवश्य साझा करें।

भवतु सब्बै मंगलम

 

Advertisement

Leave a Reply

%d bloggers like this: