रक्तचाप बढ़ाने वाले आसन, हस्त मुद्रा एवं घरेलू उपाय:Yoga For Low BP in Hindi

Advertisement

Yoga For Low BP: कहते हैं कि उच्च रक्तचाप अर्थात हाई बीपी की दवा है इसलिए समय रहते इस पर काबू पाया जा सकता है। किंतु लो बीपी अर्थात निम्न रक्तचाप की चिकित्सा जगत में कोई दवा नहीं है, इसलिए स्वयं के स्वास्थ्य का खयाल रखना अति आवश्यक है।

मैं खुद कुछ सालों पहले लो बीपी की समस्या से गुजर चुकी हूं तो मुझे अनुभव है कि ऐसा क्यों होता है?

अपने अनुभव से कह सकती हूं कि शरीर और मन को स्वस्थ रखने का सबसे शक्तिशाली माध्यम योग प्राणायाम एवं ध्यान है।

Mystic Mind के इस आर्टिकल में लो बीपी के कारण और Yoga for low BP control निवारण अर्थात योग मुद्रा के बारे में विस्तार से जानकारी देखेंगे।

साथ ही कुछ ऐसे तरीके बताऊंगी जिसके अभ्यास से आप तुरंत लो बीपी को नॉर्मल अवस्था में ला सकते हैं।

सबसे महत्वपूर्ण ये है कि ये तरीके बिल्कुल आसान और प्राकृतिक हैं। आवश्यकता है तो मात्र आपका ध्यान एवं कुछ मिनटों का समय।

इससे पहले कि हम ब्लड प्रेशर को सामान्य करने वाले प्राकृतिक उपायों अर्थात Yoga For Low BP/ योगासनों के बारे में जानें, जानते हैं कि ब्लड प्रेशर क्या है और यह कैसे काम करता है?

Also Read: कमर दर्द एवं पीठ दर्द का प्राकृतिक इलाज

Advertisement

What is Low Blood Pressure in Hindi

लो ब्लड प्रेशर को समझने के लिए पहले ब्लड प्रेशर को समझते हैं। ब्लड प्रेशर शरीर की एक सामान्य प्रक्रिया है जो शरीर के प्रत्येक अंग तक खून के साथ ऑक्सीजन का प्रवाह करता है।

जिस प्रकार हृदय और सांसों के प्रवाह की एक प्रक्रिया है, यदि इनमे किसी भी प्रकार की रुकावट जानलेवा साबित हो सकता है।

ठीक उसी प्रकार से रक्तचाप की प्रक्रिया का भी सामान्य होना आवश्यक है। हालांकि उम्र के हिसाब से रक्तचाप में थोड़ा बहुत बदलाव होता है। आम तौर पर ७५ से १२० के बीच की अवस्था को सामान्य माना जाता है।

यदि यह गति ७५ के नीचे हुई अर्थात निम्न अथवा १२० के ऊपर अर्थात उच्च हुआ तो चिंताजनक बात है। जब रक्तचाप ७५ के नीचे चला जाता है तो निम्न में गिना जाता है।

दूसरे शब्दों में, शरीर के अंगों को पर्याप्त मात्रा में रक्त तथा ऑक्सीजन की आपूर्ति नहीं हो पाती है। ऐसे में शरीर के मुख्य अंग जैसे कि हृदय, किडनी, फेफड़े, मस्तिष्क इत्यादि के सामान्य क्रिया पर विपरीत परिणाम पड़ता है। जो अच्छा अनुभव नहीं है।

आयुर्वेद की मानें तो शरीर में वात पित्त एवं कफ अर्थात पांच तत्वों में से किसी तत्व के असंतुलन के कारण रक्तचाप को समस्या होती है। इसलिए मेरा मानना है कि आयुर्वेद और योग/Yoga For Low BP ही इसका स्थाई इलाज है।

अब Yoga for Low BP के बारे में जानने से पहले जानते हैं कि What is the reason for low BP? निम्न रक्तचाप अर्थात ब्लड प्रेशर कम होने के क्या- क्या कारण हैं?

Causes Of Low Blood Pressure। निम्न रक्तचाप के कारण

#१ शरीर में हिमोग्लोबिन अथवा विटामिन बी की कमी

Advertisement

#२ शरीर में सामान्य रूप से आवश्यक तत्वों जैसे कि विटामिन, मिनरल एवं प्रोटीन की कमी

#३ कमज़ोर हृदय अर्थात दिल की बीमारी

#४ शरीर में आवश्यक पानी का असंतुलन

#५ गर्भवस्था के दौरान होने वाले शारीरिक एवं मानसिक बदलाव

#६ आम तौर पर अधिक दवाइयों के सेवन का विपरीत परिणाम

#७ लगातार बनी रहने वाली एसिडिटी

#८ सबसे मुख्य, किसी भी प्रकार का तनाव, भावनात्मक असंतुलन।

इसके पहले कि हम निवारण/Yoga for Low BP पर जाएं, आइए देखते हैं कि Low BP symptoms क्या क्या होते हैं।

Advertisement

Low BP Symptoms in Hindi

कई बार ऐसा होता है कि व्यक्ति समझ नही पाता है कि उसके स्वास्थ्य में कुछ समस्या है। इस वजह से हालत अधिक बिगड़ जाते हैं। इन Symptoms का आभास होते ही आप कुछ बदलाव कर अपना रक्तचाप संतुलित कर सकते हैं।

#१ सिर एवं शरीर में भारीपन का आभास होना

#२ उल्टी मिचली जैसा महसूस होना

#३ अचानक चक्कर आना अथवा कमजोरी महसूस होना

#४ अधिक प्यास लगना एवं गर्मी महसूस करना।

#५ घबराहट एवं दिल की धड़कनों का तेज़ होना।

#६ सब कुछ धुंधला सा दिखाई देना एवं असहज महसूस होना।

#७ किस भी काम में मन न लगना अर्थात ध्यान केंद्रित करने में असफल होना।

Advertisement

#८ कई बार त्वचा रूखी एवं पीली हो जाना भी ब्लड प्रेशर कम होने का संकेत है।

आइए अब देखते हैं कि निम्न रक्तचाप को संतुलित करने के लिए किन Yoga for BP low/आसनों को अभ्यास करें अर्थात Yoga for low BP patients in Hindi or Yoga Poses To Avoid With Low Blood Pressure।

Baba Ramdev Yoga For Low BP/ निम्न रक्तचाप को संतुलित करने वाले आसन
#१ Yoga for BP low- Sarvangasana/ सर्वांगासन

सबसे पहला आसन जिसका अभ्यास रक्तचाप संतुलित करने मे सहायक है, वह है सर्वांगासन। इसके अभ्यास से हृदय एवं स्वासन प्रणाली मजबूत बनती है।

यह आसन शरीर मके महत्वपूर्ण एवं आवश्यक हार्मोंस को उत्पन्न करने में मदद करता है। फलस्वरूप रक्तचाप बढ़ता है एवं लो ब्लड प्रेशर की समस्या खत्म हो जाती है।

#२ Yoga for Low BP – PavanMuktasan/ पवनमुक्तासन

पवन मुक्तासन शरीर में बढ़े हुए वायु तत्व को संतुलित करता है। जिसका सीधा प्रभाव रक्तचाप पर एवं श्वसन प्रक्रिया पर पड़ता है।

नियमित दिनचर्या में कुछ मिनटों का किया गया अभ्यास स्थाई रूप से निम्न रक्तचाप को भागने में सहायक है।

#३ Yoga for Low BP  – ShishuAsana/शशांकासन

शिशुआसन अर्थात चाइल्ड पोज, मस्तिष्क से किसी भी प्रकार के तनाव को निकालकर रक्त एवं ऑक्सीजन के प्रवाह को बढ़ाता है।

शरीर में इकट्ठे अन्य कोई तनाव अथवा दर्द जैसे कि पीठ दर्द, कमर दर्द अथवा पेट संबंधी समस्याओं को दूर कर तुरंत आराम देता है।

Advertisement

यह आसन कम हुए रक्तचाप को कुछ ही मिनटों में संतुलित करने में सहायक आसन है। नियमित रूप से दिनचर्या में इस आसन को अवश्य शामिल करें एवं परिणाम देखें।

जानें: कैसे करें शिशु आसन

#४ Yoga for Low BP- Uttanasana/उत्तानासन-

उत्तानासन Standing Forward Bend आसन अन्य आसनों की भांति निम्न रक्तचाप को ऊपर उठाने में मदद करता है।

यह शारीरिक एवं मानसिक बदलाव को संतुलित करने एवं मस्तिष्क से किसी भी प्रकार के तनाव को कम करने में मदद करता है।

अक्सर गलत दिनचर्या जैसे कि देर से सोना अथवा कम सोना भी निम्न रक्तचाप का कारण होते हैं।

Uttanasana के नियमित अभ्यास से मानसिक तनाव कम होने के कारण नींद समय पर आती है एवं पूरी भी होती है। फलस्वरू रक्तचाप संतुलित होने में मदद मिलती है।

Also Read: Mudra for Asthma in Hindi/ 5 मुद्राएँ जो अस्थमा भगाएँ

#५ Yoga For Low BP- AdhomukhSwanasana/ अधोमुख स्वनासन

अधोमुख स्वानासन शरीर के ऊपरी हिस्से अर्थात छाती कंधे एवं सिर को प्रभावित करता है। जिससे स्वसन प्रणाली बेहतर होने के साथ किसी भी प्रकार का तनाव भी कम होता है।

Advertisement

सांसों को प्रक्रिया संतुलित होने के साथ शरीर में रक्त संचार बढ़ता है जिससे तुरंत आराम मिलता है।

नियमित रूप से किया गया इस आसन का अभ्यास रक्तचाप संतुलित करने में सहायक है।
यदि आप स्थाई रूप से Low Blood Pressure/निम्न रक्तचाप से मुक्ति पाना चाहते हैं तो इन योगासनों का अभ्यास करना शुरू कर दें, कुछ ही महीनों में आपको चमत्कारी परिणाम मिलने लगेंगे।

Yoga for Low BP के अलावा हस्त मुद्राओं का अभ्यास भी निम्न रिक्तचाप की समस्या को कम करने में सहायक है। आइए देखते हैं कि वह कौन से मुद्रा है जिसका अभ्यास आपके लिए लाभकारी है।

Yoga Mudra For Low Blood Pressure

जैसा कि अपने ऊपर पढ़ा कि आयुर्वेद के अनुसार वात, पित्त एवं कफ बढ़ने के कारण ब्लड प्रेशर कम हो जाता है।

इसे संतुलित करने के लिए अग्नि शक्ति मुद्रा का अभ्यास सर्वश्रेष्ठ उपाय है। नियमित रूप से सूर्योदय के पहले कम से कम दस से पंद्रह मिनट तक किया गया अभ्यास निम्न रक्तचाप की समस्या को खत्म कर देगा।

Also Read:

Yoga For Low BP एवं हस्त मुद्राओं के अलाव कुछ ऐसे घरेलू उपाय हैं जिनको अपनाकर As soon as to reduce low BP अर्थात तुरंत आराम पाया जा सकता हैं। कुछ अनुभवी उपाय जो निम्न हैं।  

Low Blood Pressure Treatment in Hindi/ Home Remedies For Low Blood Pressure

#१ कम हुए रक्तचाप को तुरंत बढ़ाने के लिए कॉफी अथवा चाय के सेवन करें।

Advertisement

#२ नियमित रूप से गाजर एवं पालक के रस का सेवन भी रक्तचाप को बढ़ाने में एवं संतुलित रखने में मदद करता है।

#३ टमाटर का रस निकालकर उसमें काली मिर्च एवं नमक मिलाकर पीने से भी तुरंत आराम मिलता है।

#४ सबसे आसन एवं मेरा पसंदीदा तरीका, पानी में नमक और शक्कर मिलाकर थोड़ी थोड़ी देर में पीते रहें।

#५ निम्न रक्तचाप की हालत में खाने में नमक की मात्रा ज्यादा रखें। इससे भी रक्तचाप संतुलित रहता है।

6# हमेशा सकारात्मक विचार धारा रखें, किसी भी प्रकार के तनाव से बचें।

नोट: यदि समस्या ज्यादा गंभीर हो तो तुरंत डॉक्टर के पास जाएं, लंबी सांस लेते रहें।

FAQS

#1 Is Pranayam good for low blood pressure?

प्राणायाम लो ब्लड प्रेशर के लिए रामबाण है। सुबह के समय दस से पंद्रह मिनट का किया गया प्राणायाम न सिर्फ रक्तचाप को संतुलित करता है आपको पूरे दिन स्वस्थ और ऊर्जावान बने रहने के लिए ऊर्जा भी देता है।

Advertisement

#2 Can we do yoga during low blood pressure?

जब रक्तचाप कम हो तो तुरंत आराम पाने के लिए नमक और शक्कर पानी में मिलाकर पिएं। साथ ही नाड़ी शोधन प्राणायाम करें। इससे रक्तचाप बढ़ेगा तथा आपको योगासनों के अभ्यास के लिए ऊर्जा मिलेगी।

मेरा सुझाव है कम हुए रक्तचाप को पहले उपर्युक्त विधि से बढ़ाएं फिर योगासनों का अभ्यास करें।

#3 Is viparit karni good for low blood pressure? क्या विपरीत करने का अभ्यास लो ब्लड प्रेशर वालों के लिए उचित है?

जी हां, विपरीत करनी एक आरामदायक प्रक्रिया है। इसके अभ्यास से तनाव कम होता है जो निम्न रक्तचाप का एक मुख्य कारण है।

#4 Is kapalbhati good for low blood pressure? क्या कपालभाति का अभ्यास लो ब्लड प्रेशर के लिए ठीक है?

रक्तचाप का सीधा संबंध सांसों से है इसलिए किसी भी प्राणायम का नियमित रूप से १०- १५ मिनट का किया गया अभ्यास अत्यंत लाभकारी है।

कपालभाति एवं नाड़ी शोधन का नियमित अभ्यास मात्र निम्न रक्तचाप ही नहीं बल्कि अनेकों लाभ एक साथ देंगे।

Advertisement

#5 What should we eat when BP is low? ब्लड प्रेशर लो होने पर क्या खाएं?

बीपी लो होने पर तुरंत पानी में नमक और शक्कर मिलाकर पिएं, थोड़ी थोड़ी देर में पीते रहें। खाने में अधिक मात्रा में नमक का सेवन करें।

Final Words: रक्तचाप को समस्या पर संतुलित नहीं किया गया तो यह खतरनाक हो सकता है। इसलिए अपनी दिनचर्या में Yoga For Low BP/योग एवं प्राणायाम को अवश्य शामिल करें।

स्वस्थ रहें, सबका मंगल हो

Advertisement

Leave a Reply

%d bloggers like this: