School Friends Are Best Friends: 14 Reasons जानिए क्यों

School Friends और बचपन इन दोनों की जगह कोई और नहीं ले सकता। क्या आपको भी लगता है कि जीवन के सबसे सुनहरे दिन स्कूल के दिन थे? बिल्कुल लगता होगा, सही कहा ना मैंने? मुझे पूरा यकीन है कि आप भी अपने स्कूल और school friends को याद करके मुस्करा देते होंगे।

स्कूल में बनी मित्रता आजीवन बरकरार रहती है और उसकी मिठास आपके मन को आनंदित करती होगी। कितना सुन्दर एहसान है ना! नादान हम, नादान हमारे दोस्त और नादान आपकी हरकतें; सब कुछ खूबसूरत था।

Good_Old_School_Friends_(Unsplash)

स्कूल में बने मित्रों के सामने आज भी आप आसानी से दिल खोलकर मन की बातें कह लेते हैं, क्योंकि उनको आपका अच्छा बुरा सब मालूम होता है। सबसे अच्छी बात बचपन में बनी दोस्ती की यह है कि आप अपने दोस्त को जैसे हैं वैसे ही स्वीकार हैं। ऐसे दोस्त बड़े होने के बाद कहां मिलते हैं!

School friends के साथ बिताए पलों को संजो कर आजीवन याद करते रहने से बेहतर कुछ नहीं लगता है। उनके साथ की वे अल्हड़ यादें जब स्कूल और घर में पिटने का कारण बन जाया करती थीं, अब इस भाग दौड़ के दौर में होंठों पर मुस्कान का कारण बनती हैं।

आजकल इंटरनेट पर बचपन और बचपन के मित्रों के लिए बहुत सारी कविताएं प्रचलित हो रही हैं। कुछ दिनों पहले एक महिला मित्र के व्हाट्सएप स्टेटस पर देखा जिसमें बचपन की सभी सहेलियों ने मिलकर एक वीडियो बनाई थी जिसमें सभी ने बचपन के एक – एक खेल खेले थे।

यह सब देखकर हमारे मन में यह खयाल चलने लगा कि ऐसी बिना मतलब दोस्ती बड़े होने के बाद क्यों नहीं होती? क्यों school friends सबसे अच्छे और सच्चे होते हैं? तो, जो जवाब हमारे मन ने दिए, उसे आपके साथ साझा करने का मन हुआ।

तो, चलिए देखते हैं कि school friends किन कारणों से life Friends अर्थात आजीवन मित्र होते हैं।

१- आप एक साथ पढ़े और बड़े हुए

सबसे पहला और महत्वपूर्ण कारण यही है कि आप एक साथ बड़े हुए। जीवन के शुरुआती दौर जब अपने कुछ नया सीखना, खेलना, बातें करना, अनुशासन में रहना, ये सब सीखना शुरू किया तो वे आपके साथ थे।

इतना ही नहीं, मस्तियां करना, नियमों को तोड़ना, गलतियों में एक दूसरे का साथ देना, सब कुछ इन्हीं दिनों में और इन्हीं लोगों के साथ रहकर सीखा।

school life

सिर्फ सीखना ही नहीं, नहीं सीखना भी साथ- साथ किया, होमवर्क नहीं करना, कक्षा में रहकर भी पढ़ाई पर ध्यान न देना, इशारों में या लिखकर बातें करना, सब बातों में साथ देने वाले को कोई कैसे भूल सकता है? भाई, हम तो नहीं भूल सकते!

School friends, जिन्होंने हमारी गलतियों को स्कूल में शिक्षकों के सामने और घर पर अभिभावकों के सामने छिपाया, हमारे हर सुख- दुःख में साथ दिया, उन्होंने तो बचपन में ही आजीवन साथ देने का वचन ले लिया था। इसलिए, उम्र के हर पड़ाव पर school friends सबसे महत्वपूर्ण और विश्वासी रहेंगे।

२- School Friends आपको आपके रूप में स्वीकार करते हैं

आजकल, जीवन की आपाधापी में कई बार आप सालों साल तक पुराने दोस्तों से मिले नहीं होंगे या बात नहीं कर पाते होंगे, किन्तु आपके अंतर्मन में जो जगह उनकी है वो कोई और नहीं ले पाता।

कई बार तो गलतफहमियों के शिकार होकर भी दोस्त दूरियां बना लेते हैं। दूरियों के बावजूद भी आपको इतना विश्वास होता है कि जिस दिन आप अपने दोस्त से मिलेंगे, वह आपको गले लगा लेगा/लेगी। आपके दिल की गहराइयों में एक दूसरे के लिए जो जगह है वह गलतफहमियों से कहीं ज्यादा गहरी है, इसलिए आपको पता है कि आप कभी भी उनके पास वापस लौट सकते हैं।

tamil school days

जब कभी आपका मन उदास या परेशान होता है, school friends आपके लिए थेरेपी का काम करते हैं। उनसे बात कर लीजिए, मन सिर्फ खुश ही नहीं होता बल्कि परेशानियों का हल भी निकाल लेता है। ऐसे school friends सिर्फ लाइफलाइन कहलाने नहीं बल्कि आजीवन सहेजने के हकदार होते हैं।

३- School Friends हर अच्छे बुरे समय में आपका साथ देते हैं

क्या आपको याद है कितनी बार आप अपने क्लास टेस्ट के रिजल्ट घर पर बताने से डर रहे थे? आपके दोस्तों ने साथ घर जाकर एक मनगढ़ंत कहानी आपके पिताजी को सुनाकर आपको डांट खाने से बचा लिया!

सिर्फ आपको डांट से ही नहीं बचाया बल्कि आपको आपके अभिभावकों की नज़रों में एक पढ़ाकू बच्चा भी साबित कर दिया। कक्षा में जब आप डर के मारे किसी सवाल का जवाब नहीं दे पाते थे तो आपके मित्र दे देते थे। बदले में भले उन्हें शिक्षकों की डांट पड़े, किन्तु वे आपको शर्मिंदगी से बचाने के लिए कुछ भी करते थे।

यहां तक कि यह जानते हुए कि आपका पहला प्यार किसी और के साथ है, आपके school friends आप दोनों को साथ देखने के लिए हर उट- पटांग आयडिया आजमाते थे। यही कारण है कि आप अपने school friends को आजीवन साथ लेकर चलने में खुशी का अनुभव करते हैं।

४- School Friends एक दूसरे को बेहतर समझते हैं

आपसी समझ किसी भी रिश्ते में बहुत मायने रखती है। बचपन के बने रिश्ते मानों रग- रग में समाए हुए रहते हैं। यही कारण हैं कि वे किसी भी परिस्थिति में आप पर उंगली नहीं उठाते हैं, बल्कि आपका साथ देते हैं।

यहां तक कि यदि उन्हें पता है कि आप गलत हैं, फिर भी दुनिया के सामने साथ देते हैं, बाद में भले आपको सही गलत का ज्ञान देते हैं। दोस्ती में एक दूसरे का साथ देना ही तो कारण है कि दोस्त को brother from another mother या sister from another mother कहते हैं।

school friends understanding

आपको उनके सामने अपने कमियों को छिपाने या कुछ दिखावा करने की ज़रूरत नहीं पड़ती। School friends के सामने आप जैसे हैं बिल्कुल वैसे रह सकते हैं। वे आपको कुछ नहीं कहेंगे, बल्कि अपने उसी बचपन वाले दोस्त को देखकर और खुश होंगे।

इतना सरल, इतना सहज आप दोस्तों के अलावा किसी और के सामने नहीं सकते हो।

जब कभी आपका मन उदास या परेशान होता है, school friends आपके लिए थेरेपी का काम करते हैं। उनसे बात कर लीजिए, मन सिर्फ खुश ही नहीं होता बल्कि परेशानियों का हल भी निकाल लेता है। ऐसे school friends सिर्फ लाइफलाइन कहलाने नहीं बल्कि आजीवन सहेजने के हकदार होते हैं।

Also Read: Mother’s Day: Surprising History, Importance and Wishes for 2020

५- आप एक दूसरे को बहुत अच्छी तरह जानते हैं

School friends के खास होने की सबसे बड़ी वजह है कि वे आपको और आप उनको बहुत अच्छी तरह जानते हैं। जितना समय आप लोगों ने साथ बिताया, एक दूसरे के करीबी बन सुख- दुःख में साथ दिया, उसके बाद ऐसा बंधन बना जिसे कोई तोड़ नहीं सकता।

आपने एक दूसरे के साथ ऐसा खुशनुमा माहौल बनाया जहां कभी कुछ छिपाने की ज़रूरत नहीं पड़ी। यहां तक कि आपके दोस्तों को बिना बताए ये पता चल जाता है कि किस परिस्थिति में आप क्या जवाब दे सकते हैं या आपके मन में किस तरह के विचार चल रहे हैं।

school friends knows each other very well

६- खो चुकी खुशियों की चाबी हैं School Friends

बरसों बीत जाने के बाद, तेज़ रफ़्तार से भागती जिंदगी से कुछ पलों से विराम लेने और आंतरिक खुशियों की प्राप्ति के स्रोत बचपन के मित्र हैं। आप जब भी मिलते हैं, पुरानी यादें ताज़ी करने के साथ आप अपने आपसे और अपनी मुस्कान से दोबारा मिलते हैं।

इसीलिए तो कहते हैं कि अपने अंदर के बच्चे को हमेशा ज़िंदा रखिए क्योंकि उसमें इतना साहस है कि किसी भी मुश्किल परिस्थिति में आपमें हिम्मत और आपके चेहरे पर मुस्कान बिखेर सकता/सकती है।

अपने उस बचपन को ज़िंदा रखने और उसकी खूबियों की याद दिलाने वाले ऐसे school friends आजीवन प्रेम के भागीदार हैं।

Also Read: Mahamrityunjay Mantra In Hindi: Why And When to Chant

७- आपके सीक्रेट समूह के अमूल्य रत्न हैं School Friends

बचपन के दिनों की सबसे बेहतरीन यादें उन जगहों में छिपी है जहां सभी मित्र साथ मिलकर दुनिया से दूर एक नया जीवन जीते थे। जिसमें कुछ नए खेल खेलना, नई योजनाएं बनाना, किसी की अच्छाई और बुराई करना, सब कुछ शामिल था।

बड़े होने के बाद इस योग्य कोई मिलता नहीं जिसे आप अपने मन की बात बिना सोचे- समझे कह सकें। वहीं दूसरी तरफ, आज भी जब school friends के साथ उन सीक्रेट जगहों पर मिलते हैं तो बिंदास अपने मन की भड़ास निकाल कर हल्का महसूस करने लगते हैं।

यह वह सीक्रेट ग्रुप है जिसमें आप अपने बॉस, घरवाली/ घरवाले, बच्चे, सहकर्मी यहां तक कि बचपन के सहपाठियों के बारे में भी खुलकर बातें कर लेते हैं। ऐसा लगता है कि असली जीवन इन्हीं सबके साथ है, बाकी सब मोह माया है।

८- School Friends का घर आपका दूसरा घर है

सबसे सुंदर और अविस्मरणीय बात तो यह है कि आपके अपने घर के अलावा भी आपके कई घर हुआ करते थे, जहां जाकर आपको लगता था अपना ही तो घर है। आप एक दूसरे के घर और अभिभावकों से अच्छी तरह परिचित हैं।

मुश्किल समय में सिर्फ आपके मित्र ही नहीं बल्कि उनके माता- पिता भी आपका साथ देते हैं। आप उन पर और वे आप पर बिल्कुल अपने परिवार की तरह भरोसा करते हैं।

आपको एक दूसरे की मां के हाथ का बना भोजन और कई सारे व्यंजन का स्वाद आज भी याद है। कई बार तो वह स्वाद आपको उनके घर तक खींच ले जाता है, और आपका इस तरह आना, उस मां के मन को प्रफुल्लित कर देता है।

दूसरे शब्दों में कहूं, तो बचपन भले नादानियों से भरा हो, पर आप कुछ ऐसे रिश्ते ऐसे बनाते हैं जो आजीवन नहीं टूटते हैं।

९- मजाकिया तस्वीरों के डकैत हैं आपके School Friends

कहते हैं ना कि रूठे हुए दोस्त के आगे झुककर उसे मना लेना चाहिए वरना वे आपकी सारी पोल खोल देंगे। उनके पास आपके उन सारे शर्मनाक क्षणों की तस्वीरें हैं जिन्हें आप किसी को दिखाने की हिम्मत नहीं कर पाएंगे।

हो सकता है कि आपका रूठा हुआ दोस्त उन तस्वीरों की वायरल करने की धमकी देकर आपसे एक शाम की पार्टी या एक छोटी सी यात्रा की मांग करे। ऐसे होते हैं school friends जिनकी धमकियों में भी बहुत सारा प्रेम छलकता है।

उन तस्वीरों को देख आप उन पुरानी यादों को ज़िंदा करके खुश होते हैं और फिर से उन्हें जीने की योजना बनाते हैं। ये यादें और बचपन के मित्र, आपकी उदास ज़िन्दगी में चार चांद लगा देते हैं।

१०- एक दूसरे की ताकत हैं School Friends

कहते हैं, प्रेम में वह ताकत है जो आपको किसी भी मुसीबत से बाहर निकाल सकती है। ऐसा प्रेम तो बस school friends से ही होता है। वे आपके डॉक्टर, वकील, शिक्षक और मार्गदर्शक बन आपको हमेशा सही राह दिखाते हैं।

किसी भी मुश्किल दौर से बाहर निकलने के हर वे रास्ते उनके पास होते हैं, जिन्हें आप देख या सोच भी नहीं पाते हैं। यदि उन्हें पता चल जाएं कि उन्हें आपकी ज़रूरत है तो अपनी सारी महत्वपूर्ण मीटिंग या काम छोड़कर आपके पास दौड़े चले आते हैं।

Also Read: Law of Attraction: आकर्षण का नियम Or ब्रह्मांड की चुंबकीय शक्ति

12- School Friends हमेशा भूली- बिसरी सुनहरी यादों से जोड़े रखते हैं

कितनी अजीब बात है ना कि ज्यादातर खूबसूरत यादें आपके बचपन से जुड़ी होती हैं। जैसे – जैसे आप बड़े होते हैं, वो यादें धुंधली होती चली जाती हैं। शुक्रिया उन दोस्तों का जो एक – एक करके हर उस धुंधली यादों पर जमा धूल साफ़ कर देते हैं।

बचपन की वे आदतें जो आपको खुशी देती थी, बड़े होते ही सभ्यता और आधुनिकीकरण के नाम पर आप छोड़ते चले जाते हैं। बचपन के दोस्त ही हैं जो उनकी दोबारा याद दिलाते हैं, और उसे करने के लिए प्रोत्साहित भी करते हैं।

बहुत सारे लोग, जिन्हें हम भूल चुके होते हैं, उनसे हमारा दोबारा परिचय करवाते हैं। जीवन में आप कितने भी आगे निकल गए हों, वे आपका बचपन खोने नहीं देते और दोबारा जीने की राह बनाते, उत्साहित करते हैं।

१३- बचपन के सपनों को जीने का मौका देते हैं School Friends

बचपन के सपने, बहुत खयाली हुआ करते थे। बड़े होकर हम ये करेंगे, वो करेंगे, ऐसे रहेंगे, वहां जाएंगे, उफ्फ! कितने सारे छोटे- छोटे किन्तु जीने योग्य सपने आप समय के साथ यादों की गहराइयों में दफ़नाते चले जाते हैं।

बचपन के दोस्त आपको ना सिर्फ उन सपनों की याद दिलाते हैं बल्कि उसे पूरा करने में आपकी मदद करते हैं। वास्तव में, सिर्फ मदद नहीं करते बल्कि साथ जीकर उसे और रोमांचक बना देते हैं।

यदि अपने बचपन के सपनों को यादों में दफनाने के बजाय जीना सीख लिया तो जीवन में कभी कोई सपना अधूरा नहीं रहेगा। क्योंकि अपने अपने सपनों को देर – सवेर जीना शुरू कर दिया।

१४- आपके अकेलेपन के साथी हैं School Friends

School friends सिर्फ स्कूल में ही नहीं बल्कि आजीवन आपका साथ देते हैं। उनसे बंधे संबंध में वो कशिश होती है कि जीवन के किसी भी मोड़ पर कहीं भी वे आपकी मदद के लिए तत्पर रहते हैं।

कभी- कभी कुछ ऐसा भी समय आता है जब आप अकेले रहना पसंद करते हैं, किन्तु आपके बचपन के मित्र आपको कभी अकेला महसूस नहीं होने देते।

Final Words: school friends जैसा मित्र मिलना संभव नहीं है। उम्मीद है, ये पढ़ने के बाद आपको अपने सारे मित्र याद आए होंगे, जिन्हें याद करके आपके चेहरे पर एक प्यारी सी मुस्कान आ गई होगी।

यदि आपको ये आर्टिकल अच्छा लगा हो, तो अपने सारे मित्रों के साथ शेअर करें और उनकी मुस्कान की वजह बनें।

Leave a Reply

%d bloggers like this: