जानें, कद्दू खाने के जादुई लाभ। Benefits of Pumpkin in Hindi

Pumpkin in Hindi हिंदुस्तान में कोहड़ा अर्थात कद्दू जिसे अंग्रेजी में पंपकिन के नाम से जाना जाता है, विशेषकर सब्जी के रूप में प्रचलित है। कददू से कई किस्म की मिठाइयां जैसे कि पेठा भी बनाई जाती हैं जो बड़ों एवं बच्चों सभी को पसंद है।

पेठे के अलावा कद्दू से हलवा खीर एवं के मजेदार व्यंजन बनाए हैं। कद्दू में कई प्रकार के पोषक तत्व पाए जाते हैं जो हमारे स्वास्थ्य के लिए अत्यंत लाभकारी होते हैं।

Mystic Mind के इस आर्टिकल में हमकद्दू से संबंधित सभी बातों जैसे कि Pumpkin in Hindi, कद्दू खाने के फायदे एवं नुकसान/ Benefits of Pumpkin in Hindi के बारे में विस्तार से जानकारी देंगे।

इससे पहले कि हम कद्दू खाने के लाभों के बारे में जानें, जानते हैं कि कद्दू का अर्थ क्या है/What is Pumpkin in Hindi तथा इसका इतिहास क्या है?

What is The Meaning of Pumpkin in Hindi?

कद्दू अर्थात पम्पकिन भारतवर्ष में ही नहीं बल्कि अमेरिका और चीन में उगाई जाने वाली एक अत्यंत पौष्टिक सब्जी है। इसका दायरा मात्र सब्जियों तक ही नही बल्कि मिठाइयों, सूप, ज्यूस इत्यादि तक फैला हुआ है।

कद्दू खरबूजा एवं तरबूज की प्रजाति का है किंतु इसका स्वाद एवं प्रयोग खरबूजे एवं तरबूज से अलग है।

आजकल दो प्रेम करने वाले एक दूसरे को लड्डू,कद्दू अथवा पम्पकिन के नाम से भी पुकारते हैं। इसके पीछे की मंशा बस इतनी ही है कि दिखने में इसका आकार भले गोल मटोल है किंतु खाने में अत्यंत लाभदाई है।

पम्पकिन भले ही किसी को प्यार से पुकारने के लिए भी प्रयोग किया जाता है किंतु यह एक प्रकार की सब्जी है।

Also Read: आंखों से चश्मा हटाने के लिए उपाय

How to Pronounce Pumpkin in Hindi

पम्पकिन दो शब्दों “पंप” और “किन” से बना है। इसे बोलने का सबसे सरल तरीका है इन दोनों शब्दों को अलग अलग बोलकर देखें। दोबारा बोलते समय इन्हें जोड़कर एक साथ बोलें।

आइये देखते हैं पम्पकिन अर्थात कद्दू कितने प्रकार के होते हैं?

कद्दू के प्रकार/ Types of Pumpkin in Hindi

#१ काशीफल

काशीफल अर्थात अर्का चंदन चपटे, दो से तीन किलोग्राम वजन में पाए जाते हैं।इनकी विशेषता यह है कि ये ऊपर एवं नीचे से अंदर की तरफ़ दबे हुए होते हैं।

इनका रंग हल्का भूरा होता है।

#२ विलायती कद्दू

विलायती कद्दू आकार में अत्यंत छोटे गोल, सुगंधित एवं नारंगी रंग में पाए जाते हैं।

#३ कोहड़ा

भारत का देसी कोहड़ा हल्के हरे रंग का होता है तथा वजन पांच से छह किलोग्राम तक होता है।

#४ छप्पन कद्दू

छप्पन कद्दू हल्की धारियों वाला गहरे रंग का होता है। इनका आकर तस्तरी की भांति फैला हुआ होता है।

कददू खाने के फायदे और नुकसान। Benefits of Pumpkin in Hindi

जैसा कि अपने ऊपर पढ़ा कि कद्दू एक पोषक तत्वों से भरपूर सब्जी है। तो आइए जानते हैं कि इसके सेवन से क्या लाभ एवं क्या हानि होती है।

#१ कद्दू में भरपूर मात्रा में मैग्नेशियम पाया जाता है। कद्दू के सेवन से शरीर की मैग्नेशियम की ज़रूरत पूरी होती है।

मैग्नेशियम रक्तचाप को संतुलित करने में मदद करता है। इस प्रकार कद्दू का सेवन हृदय के स्वास्थ्य को सुधारता है।

#२ मानव शरीर की रोग प्रतिकार शक्ति को बनाये रखने में जिंक का महत्वपूर्ण स्थान है। कद्दू में प्रचुर मात्रा में जिंक उपलब्ध है।

भोजन में कद्दू के प्रयोग से मौसमी बीमारियों जैसे कि सर्दी, खाँसी, जुकाम, बुखार आदि से सुरक्षा मिलती है।

#३ पुरूषों के स्वास्थ्य के लिए कद्दू अत्यंत महत्वपूर्ण सब्जी है। इसमें मौजूद जिंक प्रोटेस्ट ग्रंथि की आवश्यकताओं को पूर्ण करती है।

Types of Pumpkin in Hindi

#४ कद्दू के बीज जो सब्जियों से कहीं ज्यादा प्रयोग किये जाते हैं, मानव शरीर मे इन्सुलिन की मात्रा सन्तुलित रखने में मदद करते हैं। इस प्रकार मधुमेह रोगियों के लिए कद्दू का सेवन प्राकृतिक उपचार है।

#५ कद्दू के सूखे बीज कोभिगोकर सोने से पहले खाने से नींद में मदद मिलती है क्योंकि ये तनाव कम करने में भी मदद करते हैं।

#६ कद्दू में भरपूर मात्रा में फाइबर होता है। नियमित भोजन में कद्दू की सब्जी खाने अथवा बीज को भिगोकर खाने से कब्ज की शिकायत से मुक्ति मिलती है।

#७ कद्दू का नियमित सेवन करने से मोटापा दूर होता है तथा शरीर की रोगप्रतिकार शक्ति भी बढ़ती है।

Pumpkin Seeds Benefits in Hindi जानने के बाद जानते हैं कि Pumpkin Recipe in Hindi/ पम्पकिन की सब्ज़ी कैसे बनाएं?

Pumpkin Sabzi Recipe in Hindi

कद्दू की सब्जी अत्यंत आसान है। अपनी आवश्यकतानुसार चीजें रख लें तथा निम्न तरीक़े से स्वादिष् सब्जी बनाएं।

#१ कड़ाई में तेल गरम करें तथा उसमें लहसून की कलियाँ डालकर सुनहरा होने तक भूनें।

#२ अब उसमें हरी मिर्च को बीच से चीरा कर डाल दें। इसके बाद यदि आपको पसंद हो तो थोड़ी सी हींग मिला दें।

#३ मिर्च के थोड़ा पकने के बाद कटे हुए कद्दू कड़ाई में डाल दें। आप चाहे तो नमक अभी मिला सकते हैं नहीं तो बाद में भी कर सकते हैं।

#४ अब इसे ढक दें और मद्धम आंच पर पकने दें। पकने के बाद गरम रोटी के साथ परोसें।

Pumpkin Meaning in Hindi And Benefits of Pumpkin in Hindi जानने के बाद जानते हैं कि रोजाना कद्दू का रस पीने के क्या लाभ हैं?

Pumpkin Juice Benefits in Hindi

कद्दू के जूस पीने के कई लाभ हैं। जैसा कि अपने ऊपर पढ़ा,कद्दू में कई विटामिन जैसे कि विटामिन बी1, बी6, सी, ई, प्रोटीन तथा अन्य तत्व मौजूद होते हैं।

कद्दू के जूस में पोटैशियम, मैग्नेशियम, के साथ कार्बोहाइड्रेड भी पाया जाता है। जो हमारे नियमित स्वास्थ्य की ज़रूरतों की पूर्ति करता है।

#१ कोहड़े का रस किडनी और लीवर के लिए अत्यंत लाभकारी है। कहते हैं कि पथरी की समस्या होने पर कद्दू का रस दिन में तीन बार पीने से दस दिनों में ही पथरी से मुक्ति मिलती है।

#२ पुराना कब्ज कई बीमारियों की जड़ होता है। कद्दू के रस का सेवन करने से ज़िद्दी कब्ज के साथ कई बीमारियों से भी मुक्ति मिलती है।

#३ पेट में अल्सर अथवा एसिडिटी की समस्या होने पर कद्दू का रस प्राकृतिक इलाज है। इसके सेवन से यूरिन संबंधित समस्याएं भी दूर होती हैं।

#४ कद्दू के रस का नियमित सेवन करने से उच्च रक्तचाप कम करने में मदद मिलती है। साथ ही कद्दू का रस कोलेस्ट्रॉल को भी संतुलित रखता है।

#५ कद्दू के रस का नियमित सेवन करने से त्वचा चमकीली बनती है तथा बाल लंबे, काले एवं घने होते हैं।

Final Words: उम्मीद है Meaning of Pumpkin in Hindi के साथ Benefits of Pumpkin in Hindi अच्छा लगा होगा।

अपने नियमित भोजन अथवा नास्ते में कद्दू को अवश्य शामिल करें। यदि आर्टिकल उपयोगी लगा हो तो दूसरों के साथ साझा करें।

सबका मंगल हो

Leave a Reply

%d bloggers like this: