अवसाद से मुक्ति दिलाने वाले 4 प्राणायाम | Best Pranayama for Depression in Hindi

Advertisement
Advertisement

Pranayama for Depression in Hindi क्या आप अपनी दिनचर्या से तनाव को खत्म करने के लिए प्राकृतिक उपाय को तलाश में हैं? तनाव, जो आजकल जीवन का एक अभिन्न हिस्सा बन गया है, मानसिक स्वास्थ्य को प्रभावित करने लगा है।

मानव जीवन इस कदर व्यस्त हो चुका है कि व्यक्ति स्वयं के स्वास्थ्य का भी खयाल नहीं रख पाता है। गलत खान पान एवं व्यस्त दिनचर्या अनेक मानसिक बीमारियों को निमंत्रित करने लगी हैं।

यदि आप भी अक्सर स्वयं को तनाव एवं चिंता से घिरा हुआ पाते हैं तो यह लेख आपके लिए है। इस लेख में हम आपके लिए कुछ ऐसे प्राणायाम का अभ्यास लेकर आए हैं, जो मिनटों में आपको स्वास्थ एवं बेहतर बना देगा।

Mystic Mind के इस लेख में हम अवसाद क्या है| What is Depression एवं उसको दूर करने के तरीके बताएंगे।

इसके पहले कि हम अवसाद एवं चिंता को भागने के लिए प्राणायाम | pranayama for depression in Hindiके बारे में जानें, जानते हैं कि अवसाद क्या है?

अवसाद क्या है? | What is Depression in Hindi

अवसाद एक प्रकार की मानसिक बीमारी है जो व्यक्ति के स्वास्थ्य के साथ उसके कार्य क्षमता को भी प्रभावित करता है।

यदि समय पर इसका सही उपचार न लिया जाए तो लंबे समय बाद यह अन्य कई शारीरिक एवं मानसिक बीमारियों को आमंत्रित करता है।

इस प्रकार संक्षेप में यह कह सकते हैं कि अवसाद अर्थात डिप्रेशन एक गंभीर मानसिक रोग है।

अवसाद को भगाने वाले सांसों के अभ्यास अर्थात Pranayama for Depression in Hindi के बारे में जानने से पहले जानते हैं कि प्राणायाम क्या है यथा यह कैसे कार्य करता है?

प्राणायाम क्या है तथा यह कैसे काम करता है?| What is Pranayama and How does it works?

प्राणायाम एक यौगिक क्रिया है जिसमें प्राण अर्थात सांसों का विषेश प्रकार से प्रयोग किया जाता है।

सांस जो जीवन की महत्वपूर्ण आवश्यकता है उसपर ध्यान देकर, उसे विधिवत ग्रहण कर शारीरिक एवं मानसिक बीमारियों से मुक्ति पाना आसान है।

प्राणायाम अभ्यास में हम सांसों को विशेष तरीके से बाहर छोड़ते हैं। प्राणायाम भीतर से सभी नकारात्मकता को बाहर निकाल देता है तथा शरीर को ताज़ी एवं सकारात्मक ऊर्जा प्रदान करता है। जिससे किसी भी प्रकार का तानव अथवा चिंता दूर हो जाती है।

आइए जानते हैं कि मानसिक स्वास्थ्य अर्थात Pranayama for Depression in Hindi in Hindi तथा Pranayama for Mental Health कौन कौन से हैं।

Best Pranayama for Depression in Hindi

नीचे दिए गए प्राणायामों में से यदि आप किसी एक प्राणायाम का अभ्यास नियमित रूप से करना शुरू कर देंगे तो मेरा दावा है कुछ ही दिनों में तनाव रहित महसूस करेंगे।
आपकी कार्य क्षमता बढ़ जाएगी तथा आप ताजगी एवं ऊर्जा से भरपूर रहेंगे।

#१ भ्रामरी प्राणायाम| Bhramari Pranayama for Depression in Hindi

भ्रामरी प्राणायाम एक प्रभावी योग है जिसके अभ्यास से। मस्तिष्क को प्रभावित लिया जा सकता है।

जैसा कि नाम में ही भ्रमर शब्द है। भ्रमर की आवाज निकालकर इस प्रणायाम का अभ्यास लिया जाता है। नियमित रूप से कूच मिनटों के अभ्यास से नाक, कान, गले की भी समस्याएं दूर होती हैं।

सबसे मुख्य यह है कि इसके नियमित अभ्यास से मस्तिष्क में स्वच्छ एवं ताज़ी ऊर्जा का प्रवाह होने के कारण तनाव से मुक्ति मिलती है।

जानें: भ्रामरी प्राणायम कैसे करें तथा सावधानियां

#२ कपालभाति प्राणायाम | Kapalbhati Pranayama for Depression in Hindi

कपालभाति प्राणायाम चिंता, अवसाद एवं तनाव को भगाने वाले योगों में से एक योग है। सांसों की इस प्रक्रिया से सम्पूर्ण शरीर प्रभावित होता है।

सुबह के समय नियमित रूप से पंद्रह से बीस मिनट लिया गया कपालभाति का अभ्यास दिन भर तनाव रहित एवं ऊर्जावान महसूस कराता है।

कपालभाति के अभ्यास सी सम्पूर्ण शरीर में जमा नकारात्मक ऊर्जा बहार आती है तथा रक्त में ऊर्जा का संचार बढ़ जाता है। फलस्वरूप कुछ ही दिनों में व्यक्ति तरोताजा एवं अवसाद मुक्त होने लगता है।

जानें: कपालभाति प्रणायाम कैसे करें तथा सावधानियां

#३ अनुलोम विलोम प्राणायाम | Anulom Vilom Pranayama for Depression in Hindi

अनुलोम विलोम अवसाद मिटने वाला अन्य प्रभावी प्राणायाम है। इस विधि द्वारा नासिका नालियों का बारी बारी से प्रयोग किया जाता है।

यदि नियमित पंद्रह से बीस मिनट अनुलोम विलोम का अभ्यास लिया जाए तो फेफड़े, हृदय, पाचन तंत्र एवं मासिक समस्याओं से बचा जा सकता है।

यह प्रणायाम शरीर के समस्त अंगों में ऊर्जा एवं रक्त का संचार बढ़ाकर व्यक्ति को सक्रिय करता है। मस्तिष्क से तनाव को निकालकर कार्यशीलता बढ़ाता एवं ताज़गी बढ़ाता है।

#४ नाड़ी शोधन प्राणायाम| Alternate Nostril Breathing Pranayama for Depression in Hindi

नाड़ी शोधन मेरा स्वतः का सबसे पसंदीदा प्राणायाम है। मेरा मानना है कि योगियों को लंबी उम्र और। सम्पूर्ण स्वास्थ का कारण नाड़ी शोधन प्रणायाम ही है।

इस प्रणायाम में सांसों पर पूर्ण काबू पा लेना ही सबसे जादुई क्रिया है। जिस व्यक्ति ने अपनी सांसें काबू में कर ली, उसका स्वास्थ्य उसके हाथों में होता है।

इस प्रणायाम के अभ्यास द्वारा व्यक्ति अपनी शरीर को समस्त संरचना का समझ एवं स्वस्थ रखने में सक्षम हो जता है।

जानें: नाड़ी शोधन प्रणायाम की सही विधि एवं सावधानियां

FAQS

#१ Which Pranayam is Best for Depression?

उत्तर: अवसाद को किसी भी समय यथा कहीं पर भी कम करने का सर्वोत्तम उपाय नाड़ी शोधन प्राणायाम है। नाड़ी शोधन प्राणायाम का कुछ मिनटों का अभ्यास मस्तिष्क यथा शरीर के अन्य अंगों में ताज़ी ऊर्जा प्रवाहित करता है। फलस्वरूप तनाव अथवा अन्य नकारात्मक ऊर्जा शरीर से बाहर निकल जाती है।

कुछ ही देर में व्यक्ति तनाव रहित, ऊर्जावान और सकारात्मक महसूस करने लगता है।

#२ Which Yoga is best for Depression?

योगासनों के नियमित अभ्यास द्वारा न सिर्फ शारीरिक बल्कि मानसिक बीमारियों को भी भगाया जा सकता है।

अन्य आसनों के अभ्यास के अंत में शवासन का अभ्यास आवश्य करें। शवासन का अभ्यास मन से किसी भी प्रसार का तनाव, चिंता एवं अवसाद निकालर शरीर एवं मन को हल्का महसूस कराता है।

पुराना से पुराना अवसाद शवासन के नियमित अभ्यास से दूर लिया जा सकता है। शवासन बिल्कुल ध्यान की भांति मस्तिष्क पर काम करता है।

Final Words: उम्मीद है ऊपर बताए किसी एक प्रणायाम का अभ्यास अपनी दिनचर्या में शामिल कर आप अपने मासिक स्वास्थ्य का खयाल रखेंगे।

यदि आपको यह लेख Pranayama for Depression in Hindi अच्छा, ज्ञानवर्धक एवं लाभकारी लगा हो तो दूसरों के साथ साझा कर उनका मार्ग दर्शन करें।

लेख को लाइक कर एवं कमेंट बॉक्स में अपने विचार व्यक्त कर हमें अवश्य बताएं कि आपने किस प्रणायाम का अभ्यास शुरू किया है।

इस पेज को बुक मार्क करना ना भूलें ताकि भविष्य में आने वाले लेखों को आप आसानी से पढ़ सकें।

सबका मंगल हो

Advertisement
Advertisement

Leave a Reply

%d bloggers like this: