जानें पीपल के फायदे, नुकसान और महत्व | Peepal Tree Uses in Hindi

Peepal Tree Uses in Hindi | Uses of Peepal Tree in Hindi | Uses of Peepal Tree Leaves in Hindi | Uses of Peepal Tree in Hindi Language | Medicinal Uses of Peepal Tree in Hindi Language

पीपल के पेड़ का हिंदू धर्म में काफी ज्यादा महत्वपूर्ण स्थान है। इसका धार्मिक महत्व तो है ही, साथ ही वनस्पति विज्ञान और आयुर्वेद में भी इसके अनेकों फायदों के बारे में जानकारी मिलती है।

मेरा मानना है कि प्रकृति को किसी धर्म से न जोड़कर उसके महत्त्व को जानना तथा उसका जीवन में उपयोग करना अधिक बुद्धिमानी का काम है।

Advertisement

Mystic Mind के इस आर्टिकल में हम आपको पीपल पेड़ के फायदे, नुकसान और इसके धार्मिक महत्व के बारे में बता रहे हैं। तो आइए जानते हैं पीपल पेड़ के बारे में विस्तार से।

इस लेख में हम जानेंगे

  • पीपल के पत्ते में कौन से पौष्टिक तत्व पाए जाते हैं?
  • पीपल के फायदे
  • पीपल के पत्ते के नुकसान
  • हिंदू धर्म में पीपल का महत्व

तो Peepal Tree Uses in Hindi जानने से पहले जानते हैं कि पीपल के पेड़ एवं उसके पत्तों में ऐसे कौन कौन से पोषक तत्व पाए जाते हैं जिसकी वजह से यह मानव स्वास्थ्य के लिए उपयोगी वृक्ष माना जाता है।

Advertisement

पीपल के पत्ते में कौन से पौष्टिक तत्व पाए जाते हैं | Peepal Tree in Hindi

आयुर्वेद की दृष्टि से पीपल का पेड़ हर मामले में गुणों के खान के तौर पर जाना जाता है। इसके फल और पत्ते से लेकर छाल तक काफी फायदेमंद होते हैं।

जहां तक पीपल के पत्ते की बात है तो इसमें फाइबर, कार्बोहाइड्रेट, आयरन, कॉपर, कैल्शियम, मैग्नीशियम और प्रोटीन जैसे कई पौष्टिक तत्व पाए जाते हैं, जिसकी वजह से ये हमारे स्वास्थ्य के लिए कई मायनों में फायदेमंद साबित हो सकते हैं।

आइए जानते हैं कि पीपल का पेड़ अथवा पीपल के पत्तों का क्या फायदा एवं नुकसान होता है? दूसरे शब्दों के कहें तो Peepal Tree Uses in Hindi पीपल के पेड़ को कैसे उपयोग में लाया जा सकता है।

Advertisement

Also Read: चिया बीज के फायदे और नुकसान 

पीपल पेड़ से मिलने वाले फायदे | Benefits of Peepal Tree in Hindi

1. त्वचा के लिए फायदेमंद – त्वचा में निखार लाने और खूबसूरती बढ़ाने के लिए लोग अनेकों तरह के जतन करते हैं। लेकिन ये बात काफी पहले ही प्रमाणित हो चुकी है, कि त्वचा की खूबसूरती में आर्युवेद काफी बड़ा योगदान निभा सकता है।इसलिए तो बड़े से बड़े ब्रांड भी कॉस्मेटिक प्रोडक्ट बनाने के लिए आर्युवेद का सहारा लेते हैं।

जहां तक पीपल की बात है, तो इसके पत्ते से लेकर इसकी जड़ तक त्वचा की खूबसूरती के लिए फायदेमंद हो सकते हैं। इसके लिए पीपल की छाल या फिर उसके पत्तों को पीसकर उसका लेप बनाकर इस्तेमाल किया जा सकता है।

Advertisement

इस लेप को लगाने से त्वचा निखर उठती है। इसके अलावा पीपल की जड़ को भिगोकर उसका लेप बनाकर त्वचा पर लगाने से असमय होने वाली झुर्रियां कम होने लग जाती है।

2. त्वचा रोग में लाभदायक – हमारी त्वचा को कई बार अनेकों तरह की समस्याओं से जूझना पड़ता है। जिसमें दाद, खाज, खुजली इत्यादि जैसी अनेकों समस्या सम्मिलित हैं। तो त्वचा को इस तरह की परेशानी से निजात दिलाने में भी पीपल महत्वपूर्ण योगदान निभा सकता है।

इसके लिए या तो पीपल के पत्तों को खाने की सलाह दी जा सकती है, या फिर उसका काढ़ा बनाकर पीने की सलाह दी जा सकती है। इसके अलावा अगर त्वचा पर किसी तरह के फोड़े-फुंसी हो जाए तो पीपल की छाल को पीसकर उस पर लगाने से फायदा मिल सकता है।

Advertisement

Also Read: कैनोला तेल के फायदे और नुकसान

Peepal Tree Uses in Hindi

3. सांस की तकलीफ में फायदेमंद – श्वास से संबंधित किसी भी तरह की समस्या में पीपल फायदेमंद साबित हो सकता है। इसके लिए पीपल के पेड़ की छाल के अंदरूनी हिस्से को सुखाकर उसका पाउडर या चूर्ण बना लिया जाता है और फिर इसी चूर्ण का सेवन किया जाता है। इससे श्वांस संबंधित कई परेशानियां खत्म हो सकती है।

इसके अलावा दमा के मरीजों को पीपल के पत्ते को दूध में उबालकर पीने की सलाह दी जाती है। क्योंकि इससे दमा में काफी फायदा मिलता है।

Advertisement

4. दांतों के लिए फायदेमंद – दांतों के कई रोग में पीपल की छाल काफी फायदेमंद साबित हो सकती है। इसके लिए एक तो आप पीपल की दातुन का इस्तेमाल कर सकते हैं। पीपल की लकड़ी से दातुन करने से दांत के दर्द में काफी राहत मिलती है और अगर आपके मुंह से बदबू आती है, तो वो भी खत्म हो जाएगी।

इसके अलावा करीब 10 ग्राम पीपल की छाल लें और इसमें 2 ग्राम काली मिर्च के साथ थोड़ा सा कत्था को मिलाकर अच्छे से महीन पीस लें और इस पाउडर को दांत साफ करने के लिए इस्तेमाल करें। इससे दांत में होने वाले कई तरह की समस्या से निजात मिल सकती है।

इतना ही नहीं, पीपल की छाल और वट वृक्ष की छाल को समान मात्रा में लेकर पानी में डालकर अच्छे से उबाल लें और फिर उससे कुल्ला करें। ऐसा करने से भी दांत के रोग में आराम मिलता है।

Advertisement

Peepal Tree Uses in Hindi

5. नकसीर में होता है फायदेमंद – अगर आपको कभी नकसीर की समस्या हो जाए, तो आप पीपल के ताजे पत्तों को तोड़कर उसका रस निचोड़ लें और उसे नाक में डालें। इससे काफी फायदा मिल सकता है। या फिर पीपल के ताजे पत्तों को मसल कर अगर सूंघते हैं, तो उससे भी नकसीर में काफी फायदा होता है।

6 तनाव कम करता है – अगर आप नियमित रूप से पीपल के कोमल पत्ते को चबाकर खाते हैं, तो इससे आपको तनाव में काफी राहत मिलेगी, क्योंकि इसमें भरपूर मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट तत्व पाए जाते हैं। इतना ही नहीं पीपल के पत्ते का नियमित तौर पर सेवन करने से ये बढ़ती उम्र के असर को भी कम करता है।

7. अस्थमा में होता है फायदेमंद – अस्थमा से पीड़ित व्यक्ति के फेफड़े के रास्ते में कसाव और सूजन की समस्या उत्पन्न होने लगती है, जिसकी वजह से खांसी, सीने में जकड़न, सांस लेने में तकलीफ और गले में घरघराहट होने लगती है। ऐसे में पीपल के पत्ते का जूस बनाकर पीने से फायदा मिल सकता है।

Advertisement

एक रिसर्च के अनुसार इसमें एक विशेष गुण मौजूद रहता है, जो ब्रोंकोस्पस्म (अस्थमा की एक तरह की स्थिति) पर सकारात्मक असर दिखाने का काम कर सकता है।

Peepal Tree Uses in Hindi

8. हृदय के स्वास्थ्य के लिए – हृदय को स्वस्थ रखने के लिए भी पीपल काफी लाभदायक साबित हो सकता है। एक रिसर्च के अनुसार पीपल के पत्ते को रात में पानी में भिगोकर रख दें और दूसरे दिन पूरे दिन में तीन बार उस पानी का सेवन करें। इससे हृदय से जुड़ी समस्याएं कम हो सकती हैं। पीपल में दिल को स्वस्थ रखने के गुण पाए जाते हैं।

9. लिवर को रख सकता है स्वस्थ – लिवर को स्वस्थ बनाए रखने के लिए भी पीपल के पत्ते का जूस काफी फायदेमंद साबित हो सकता है। इसमें पाए जाने वाले गुण लिवर को खराब होने से बचा सकता है।

Advertisement

10. पीलिया में फायदेमंद – पीलिया से पीड़ित व्यक्ति के लिए भी पीपल का पत्ता रामबाण साबित हो सकता है। आयुर्वेद के ज्ञाता पीलिया रोगियों को पीपल के पत्तों में मिश्री मिलाकर उसका शरबत बनाकर पीने की सलाह देते हैं। इसका सेवन दिन में दो बार लगातार 6-7 दिनों तक करना चाहिए।

Peepal Tree Uses in Hindi

11. फटी एड़ियों में फायदेमंद – फटी एड़ियों को ठीक करने में भी पीपल काफी फायदेमंद साबित हो सकता है। इसके लिए पीपल के पत्तों के दूध को फटी एड़ियों पर लगाया जाता है। नियमित तौर पर ऐसा करने से कुछ ही दिनों में फटी एड़ियां ठीक होकर मुलायम हो जाती हैं।

12. कब्ज में मिल सकता है राहत – कब्ज की समस्या से पीड़ित लोगों के लिए भी पीपल रामबाण का काम कर सकता है। इसके लिए नियमित तौर पर पीपल के 5-10 फल को खाने की सलाह दी जाती है। इससे कब्ज की समस्या में काफी राहत मिल सकती है।

Advertisement

13. अलग-अलग तरह के घावों को ठीक करने में फायदेमंद – त्वचा संबंधित समस्याओं के अलावा किसी भी प्रकार के घाव को ठीक करने में पीपल काफी कारगर साबित होता है। आयुर्वेद में पीपल के गुणों के बारे में काफी विस्तार से बताया जाता है।

आइए जानते हैं कि पीपल के पत्ते अथवा पीपल के पेड़ का किस तरह उपयोग किया जा सकता है?

पीपल के पत्ते का उपयोग | Medicinal Uses of Peepal Tree in Hindi

आइए जानते हैं अलग-अलग तरह के घावों को ठीक करने के लिए कैसे करें पीपल का इस्तेमाल।

Advertisement
  • पुराने फोड़े अगर ठीक ना हो रहे हों, तो पीपल के कुछ कोपलों को जलाकर उसे कपड़े से छान लें और फिर उसे फोड़े पर लगाएं। काफी लाभ मिलेगा।
  • चोट के कारण या फिर जलने से होने वाले घाव पर पीपल की छाल को पीसकर उसमें घी मिलाकर लगाने से आराम मिलता है।
  • ऐसे घाव जो पुराने हैं और नहीं भर रहे हैं, तो पीपल की छाल को गुलाब जल में घिसकर लगाने से आराम मिल सकता है।
  • पीपल के ताजे पत्ते का चूर्ण बनाकर घाव पर लगाने से जल्दी आराम मिल सकता है।
  • मुंह के घाव को ठीक करने के लिए पीपल के हरे पत्ते और उसके छाल को पीसकर उसमें हनी मिलाकर लगाने से आराम मिल सकता है।

गलत तरीके से किसी भी चीज का उपयोग नुकसान ही पहुंचाता है ठीक उसी प्रकार पीपल के पत्ते को सही ढंग से प्रयोग न करने पर कुछ नुकसान हो सकते हैं।

Also Read: जैतून के तेल के फायदे, उपयोग और नुकसान

पीपल के पत्ते के नुकसान | Disadvantages of Peepal Tree in Hindi

जैसा कि हम सभी जानते हैं कि, किसी चीज के अगर फायदे हैं, तो उसके नुकसान भी अवश्य होते हैं। तो आइए जानते हैं पीपल के पत्ते से होने वाले नुकसान के बारे में।

Advertisement
  • पीपल के पत्ते का सेवन अगर अत्यधिक मात्रा में किया जाए, तो उल्टी होने की संभावना रहती है। क्योंकि इसका स्वाद कड़वा होता है।
  • पीपल के पत्ते के अत्यधिक सेवन से प्रोस्टेट कैंसर का खतरा बढ़ सकता है। क्योंकि इसमें कैल्शियम की प्रचुर मात्रा मौजूद रहती है।
  • पीपल के पत्ते का अत्यधिक मात्रा में सेवन करने से पेट में दर्द, मरोड़ और गैस की समस्या उत्पन्न हो सकती है। क्योंकि इसमें फाइबर की प्रचुर मात्रा मौजूद रहती है।

हिंदू धर्म में पीपल का महत्व | Importance of Peepal Tree in Hindi

हिंदू धर्म में पीपल के पेड़ को भगवान विष्णु का स्वरूप माना जाता है। इसलिए पीपल के वृक्ष को सबसे ज्यादा पवित्र माना गया है। मान्यता है कि पीपल के कोपलों, पत्तों और टहनियों तक में देवी-देवताओं का निवास है।

कहते हैं कि पीपल के शीर्ष में भगवान शिव, मध्य में भगवान विष्णु और इसके मूल में ब्रह्मा जी निवास करते हैं। तो वहीं पत्तों, फलों और शाखाओं में अन्य देवी-देवता का निवास है। तो वहीं वैज्ञानिक दृष्टिकोण से ये इसलिए महत्वपूर्ण है क्योंकि ये अत्यधिक मात्रा में ऑक्सीजन पैदा करता है।

FAQS

Advertisement

१- पीपल का पेड़ कब काटना चाहिए?

धार्मिक मान्यताओं की माने तो पीपल के पेड़ के एक-एक अंग एवं पत्तों में देवी देवताओं का वास होता है। यही मुख्य कारण है कि भारत वर्ष में पीपल के पेड़ को काटना अशुभ माना जाता है।

किंतु यदि किसी कारणवश आप को पीपल का पेड़ काटना ही पड़े तो रविवार के दिन इसे काटे एवं काटने से पहले देवी देवताओं से पूजा अर्चना कर उनसे माफी मांग लें।

२- पीपल के पत्ते को पर्स में कैसे रखें?

धार्मिक मान्यताओं के अनुसार पीपल के पत्ते को बटुए में रखने से धन का आगमन बना रहता है। किसी शनिवार के दिन पीपल के पत्ते को तोड़कर घर लाएं एवं इसे गंगाजल से धोकर साफ करें।

Advertisement

बाद में पत्ते के ऊपर हल्दी के घोल से दाएं हाथ की अनामिका उंगली से “ह्रीम” मंत्र लिखें। एवं मन ही मन इस मंत्र का जाप कर पत्ते को धूप दीप दिखाएं एवं अपने पर्स में रख लें।
ऐसा करने से आपके पास धन की कमी नहीं होगी।

३- पीपल के पेड़ से ऑक्सीजन कब देता है?

पीपल का पेड़ मात्र धार्मिक कार्यों के लिए महत्वपूर्ण नहीं है बल्कि मानव स्वास्थ्य के लिए भी अत्यंत महत्वपूर्ण वृक्ष है।

इसका मुख्य कारण है कि पीपल का पेड़ 24 घंटे ऑक्सीजन प्रदान करता है अर्थात यह मात्र दिन में नहीं बल्कि रात्र में भी ऑक्सीजन छोड़ता है

Advertisement

Final Words about Peepal Tree Uses in Hindi: पीपल का वृक्ष मात्र धार्मिक ही नहीं बल्कि स्वास्थ्य के क्षेत्र में भी अत्यधिक महत्व रखता है। इसलिए अपने घर के आस-पास बगीचे में पीपल का एक वृक्ष अवश्य लगाएं।

उम्मीद है पीपल के पत्ते उसकी चाल एवं फल के फायदे व नुकसान जानने के बाद आप पीपल के पत्तों का महत्त्व जान गए होंगे।

यदि आर्टिकल आपको फायदेमंद एवं ज्ञानवर्धक लगा हो तो दूसरों के साथ साझा कर उन्हें इस जानकारी से लाभान्वित करें।

Advertisement

भविष्य में ऐसे Peepal Tree Uses in Hindi ही अन्य उपयोगी एवं ज्ञानवर्धक लेखों को पढ़ने के लिए इस पेज को बुकमार्क कर ले।

सबका मंगल हो

Advertisement

Leave a Reply

%d bloggers like this: