How To Open Third Eye Without Meditation: आज्ञा चक्र

How To Open Third Eye Without Meditation आज्ञा चक्र उन तिलस्मी खजानों में से एक है जिसकी शक्तियों को शब्दों में प्रस्तुत करना कम होगा। ऐसा इसलिए क्योंकि प्रत्येक व्यक्ति इसकी शक्तियों का उसके ज़रूरतों से हिसाब से प्रयोग करता है।

जितना रोमांचक इसके बारे में सुनकर लगता है उतना ही मुश्किल इसकी शक्तियों को सक्रिय होने में होती है। जैसा कि प्रचलित वाक्यांश कहता है, ” चीजें या हालात मुश्किल हो सकते हैं किन्तु नामुमकिन नहीं।”

यदि आप आज्ञा चक्र क्या है, इसका स्थान कहां है तथा इसके सक्रिय सक्रिय होने से जीवन में कैसे परिवर्तन आते हैं, आदि के जवाब जानना चाहते हैं तो नीचे दिए लिंक पर जाएं।

Third eye activation in Hindi: आज्ञाचक्र की चमत्कारी शक्तियों को जगाने के लाभ

सबसे सरल तथा मुश्किल तरीका ध्यान का अभ्यास है, सरल इसलिए क्योंकि सबसे कम समय में इसे ध्यान के माध्यम से सक्रिय किया जा सकता है। मुश्किल इसलिए कि ध्यान के लिए बैठना तथा आवश्यकतानुसार ध्यान का अभ्यास करना लोगों के लिए मुश्किल लगता है।

कई लोगों ने यह जानने की कोशिश की है कि क्या ध्यान के अलावा कोई मार्ग है जिसपर चलकर आज्ञा चक्र को सक्रिय किया जा सकता है? तो, जवाब है, बिल्कुल तरीका है, जिसके नियमित अभ्यास से आज्ञा चक्र को सक्रिय तथा संतुलित रखा जा सकता है।

तो, चलिए देखते हैं कि How To Open Third Eye Without Meditation अर्थात बिना किसी ध्यान अभ्यास के तीसरी आंख अथवा आज्ञा चक्र को कैसे सक्रिय करें।

How To Open Third Eye Without Meditation in Hindi

MysticMind services images

बिना ध्यान के ध्यान चक्र को सक्रिय करने के तरीके जानने से पहले इस बात को अच्छी प्रकार से समझें कि ध्यान सबसे सरल तरीका क्यों है? ध्यान से होने वाले लाभ तथा परिवर्तन से आज्ञा चक्र आसानी से सक्रिय होने लगता है।

ध्यान करने की विधि तथा लाभ के बारे में जानने के लिए नीचे लिंक पर जाएं।

Meditation Meaning in Hindi: ध्यान योग के 20 चमत्कारी लाभ

आज्ञा चक्र यदि सरल तथा साफ़ शब्दों में कहूं तो तब सक्रिय होता है जब आप अपने असली स्वरूप में रहने लगते हैं। आपको शायद ये जानकर हैरानी हो कि प्रत्येक मनुष्य का असली स्वरूप, गुणों से भरपूर है। दुर्गुण तो आपके असली स्वरूप अर्थात आज्ञा चक्र पर जमी धूल है जिसे ध्यान का अभ्यास आसानी से उतार देता है।

मनुष्य का असली स्वरूप उस सफ़ेद कपड़े की भांति है जिसपर धूल मिट्टी के एक एक कण दाग बनकर उसे गन्दा करते रहते हैं। जाने अंजाने में हमसे गलतियां होती ही रहती है इसलिए आज्ञा चक्र को खोलने अथा संतुलित रखने के लिए अपने कर्मों और विचारों के प्रति सजग रहना अति आवश्यक है।

इन गुणों को अपनाने के लिए, अपने विचारों तथा कर्मों में परिवर्तन करने के लिए, इनका नियमित अभ्यास आवश्यक है।

How To Open Third Eye Without Meditation तो, देखते हैं वे कौन से गुण, धर्म अथवा तरीके हैं जिन्हें अपनाकर आप बिना ध्यान के आज्ञा चक्र को सक्रिय कर लेते हैं।

१- How To Open Third Eye Without Meditation- मौन का अभ्यास

मौन अर्थ साइलेंस में इटनी अपार शक्ति है जिसका अनुमान मात्र उन लोगों को है जिन्होंने इसका अनुभव किया है। यदि आप कभी शांति से बैठकर सोचेंगे तो पाएंगे कि दिन भर में एक व्यक्ति जितना बोलता है उसका ८० से ९० प्रतिशत अनावश्यक होता है।

अनावश्यक बोलने से बहुत सारी उर्जा व्यर्थ चली जाती है, इसीलिए यदि आप गौर करेंगे तो पाएंगे कि कम बोलने वालों बहुत सेंसिबल होते हैं।

मौन के कुछ दिन के अभ्यास से क्या बोलना अथवा क्या नहीं बोलना का गहराई से भान होता है। मौन का सीधा प्रभाव आज्ञा चक्र पर पड़ता है तथा वह सक्रिय होने लगता है।

२- How To Open Third Eye Without Meditation मैडफुलनेस अर्थात सजगता

आज के इस भाग दौड़ में मनुष्य पचास प्रतिशत से ज्यादा समय ऑटोमेटेड तरीके से चलने लगा है। खाना बनाना स्त्रियों के बाएं हाथ का खेल है, हाथों खाना बनाते हैं किन्तु मैं कहीं और विचरण कर रहा होता है।

ऑफिस के काम, एक ही काम रोज़ करके इतने पक्के हो गए हैं कि हाथ काम कर रहा होता है मन कुछ और सोच रहा होता है। कुछ लोग इसे मल्टीटास्किंग का नाम देकर बढ़ावा देते हैं किन्तु आपके आज्ञा चक्र को सक्रिय करने के मार्ग में यह बाधक है।

अपनी सजगता को बढ़ाएं तथा एक समय पर एक ही काम पर तन तथा मन दोनों लगाएं। ऐसा करके आप पाएंगे कि आपकी थकान कम होती है तथा काम अच्छा होता है। ऐसा इसलिए है क्योंकि वर्तमान में रहने तथा शरीर और मन के एक साथ कम करने से कम उर्जा खर्च होती है।

साथ ही सजगता आज्ञा चक्र को बिना ध्यान के अभ्यास के सक्रिय करने में अत्यंत सहायक है।

३- How To Open Third Eye Without Meditation- प्रकृति का सन्निध्य

How To Open Third Eye Without Meditation in Hindi

प्रकृति अथवा आपके आस पास का वातावरण तथा प्रकृति के अंश अर्थात पेड़ पौधे, हवा पानी इत्यादि। चक्रों के बंद होने पर ही बीमारियां आती हैं, इसीलिए चिकित्सक अक्सर सलाह देते हैं कि हवा पानी बदलिए, कहीं घूम कर आइए।

तो, पेड़ पौधों को ऊर्जा सम्पूर्ण रूप से शुद्ध होती है जो मन को अच्छा करने के साथ साथ आज्ञा चक्र को बिना मेडिटेशन के सक्रिय करने में भी मदद करती है। यदि आप शहर में रहते हैं तो अपनी दिनचर्या में सुबह सूर्योदय से पहले उठना तथा टहलने की आदत डालें।

सूर्योदय से पहले प्रकृति में कोई प्रदूषण नहीं होने के कारण वातावरण शुद्ध होता है। साथ ही सप्ताहांत में अथवा महीने में एक दिन बार समुद्र के किनारे अथवा पहाड़ियों पर अवश्य जाएं।

४- How To Open Third Eye Without Meditation नाड़ी शोधन तथा कपालभाति प्राणायम

मन के स्वास्थ्य के साथ शारीरिक ऊर्जा को भी ताज़ा शुद्ध रखना अत्यन्त आवश्यक है। कुछ विशेष योगासन का अभ्यास भी आज्ञा चक्र को सक्रिय करता है।

यदि आप कोई और व्यायाम अथवा योगासन का अभ्यास नहीं करते तो इन दो प्राणायाम का अभ्यास अवश्य अपनाएं। नाड़ी शोधन चक्रों को शुद्ध तथा सक्रिय करने का सबसे प्रभावी तरीका है।

कपालभाति के अभ्यास से सिर्फ शरीर के अंदर की ऊर्जा नहीं बल्कि औरा की सफाई भी होते है। ये दोनों ऊर्जा आज्ञा चक्र को अत्यंत प्रभावित करती हैं। इसलिए प्रतिदिन दस से पंदर मिनट इन दोनों प्राणायाम के अभ्यास से बिना किसी ध्यान का अभ्यास किए, आज्ञा चक्र को सक्रिय किया जा सकता है।

५- बैंगनी रंग का अधिक प्रयोग करें

चक्रों का संबंध आकाशीय सप्तरंगी धनुष से है। आज्ञा चक्र का रंग गाढ़ा बैंगनी है इसलिए अधिक से अधिक इस रंग का प्रयोग करें। एक ही रंग को बार बार देखने से यह रंग प्राकृतिक रूप से मन की गहराई में उतरने लगता है।

रंगों का प्रभाव चक्रों पर भी बढ़ता है, क्योंकि मन जो भी तस्वीर बनाता है, शरीर उससे प्रभावित होता है। कपड़े, फल, पेन, डायरी का रंग, रुमाल, इत्यादि दिन प्रतिदिन प्रयोग में आने वाली चीजों में बैंगनी रंग का समावेश करें।

६- How To Open Third Eye Without Meditation- थेटा ब्रेन वेव संगीत सुनें

संगीत का मन पर गहरा असर पड़ता है। उम्मीद है कभी ना कभी आपने भी अनुभव किया होगा कि भक्तिगीत सुनते ही मन में भक्ति भाव उमड़ने लगता है ।

शोध के अनुसार मस्तिष्क संगीत के स्तर पर काम करता है। संगीत के तो मस्तिष्क को प्रभावित करते हैं। थेटा ब्रेन वेव मस्तिष्क को सुप्तावस्था में ले जाता है जहां इंसान गहराई से आराम की अवस्था में चला जाता है।

यह ऐसे अवस्था है जहां जाने पर आप अपने विचारों को अपने अनुसार गति तथा रास्ता दिखा सकते हैं। इसलिए इस संगीत का प्रयोग भी आज्ञा चक्र को सक्रिय करने में मदद करता है।

७- How To Open Third Eye Without Meditation- कल्पना शक्ति

कल्पना शक्ति, एक ऐसा तरीका है जिससे संसार में नए नए अविष्कार होते रहते हैं। यही व्यक्ति का वास्तविक स्वरूप है जो अक्सर तीसरी आंख खुलने के बाद अधिक प्रभावी हो जाती है।

वास्तविक कल्पनाओं के माध्यम से अपनी कल्पना शक्ति को दृढ़ करें। उदाहरण के लिए आपकी ऑफिस टेबल पर आज किस रंग का गुलदस्ता होगा, कल्पना करें और बाद ने देखें कि सही है या नहीं।

हो सकता है कि पहली बार में सच ना हो, किन्तु अभ्यास से सब कुछ संभव है। इसलिए प्रतिदिन नई नई चीजों पर प्रयोग करें। धीरे धीरे अपनी तीसरी आंख इसे क्रिया से प्रभावित होगी तथा खुलने लगेगी।

८- How To Open Third Eye Without Meditation इसेंशियल ऑयल अथवा इत्र का इस्तेमाल

बहुत सारे लोग ध्यान के दौरान सुगंधित तेल, चंदन अथवा इत्र का प्रयोग करते हैं। सुगंध म मन को शांत तथा मस्तिष्क को आराम देता है। आप जितना ज्यादा रिलैक्स रहेंगे तीसरी आंख उतनी जल्दी सक्रिय होती है।

स्वयं को आरामदायक स्थिति में रखने तथा ध्यान को एकत्रित करने के लिए अपनी पसंद के सुगंधित तेल अथवा इत्र का प्रयोग करें। नियमित चंदन का टीका अथवा माथे पर चंदन रगड़ने से भी कुछ दिनों में आज्ञा चक्र सक्रिय होने लगता है।

९-How To Open Third Eye Without Meditation-  ताज़े फल तथा सब्जियां

भोजन का मनुष्य के शरीर पर ही नहीं बल्कि मन पर भी गहरा प्रभाव पड़ता है। उदाहरण के लिए यदि आप मंदिर में बनाए गए भोजन को खाएंगे तो वह अत्यधिक स्वादिष्ट लगता है।

कारण यह है कि बनाने वाले ने इस श्रद्धा से भोजन बनाया होता है कि यह भगवान के लिए है। भोजन भावनाओं को भी अपने आप में समा लेता है।

घर में भोजन बनाने वाले को कभी दुखी ना करें तथा अधिक से अधिक तो ताज़े फल और सब्जियों का सेवन करें। फलों में प्रकृति की शुद्ध ऊर्जा होती है जो मन को तरोताजा एवं हल्का महसूस कराती है।

ताज़े फल और सब्जियों में ऊर्जा ताजी होती है जो आपके मन और शरीर दोनों के लिए अच्छा है। इससे अज्ञेय चक्र के सक्रिय होने तथा संतुलन में मदद मिलती है।

१०- How To Open Third Eye Without Meditation क्रिस्टल का साथ

क्रिस्टल अर्थात सेमी प्रेशियस पत्थर, महंगे पत्थर जैसे कि पन्ना, हीरा, नीलम इत्यादि भी आज्ञा चक्र खोलने के लिए लाभदायक है। इन कीमती पत्थरों के ना होने पर इनके बदले कम कीमत किन्तु उतना ही लाभ देने वाले पत्थर जैसे कि अमेथिस्ट , टाइगर आई इत्यादि भी लाभदायक हैं।

आज्ञा चक्र के सक्रिय करने के लिए अमैथिस्ट सबसे उपयोगी पत्थर है। अंगूठी में जड़कर अथवा माला, अथवा साथ रखने से भी आज्ञा चक्र प्रभावित होता है।

पत्थर पृथ्वी से जुड़ा हुआ तो तत्व है जो पंच तत्वों में से एक महत्वपूर्ण तत्व है। इसलिए पत्थर हम धरातल पर रहने की शक्ति तथा पृथ्वी की सभी शक्तियों का संचार हममें करता है।

आज्ञा चक्र खोलने के सबसे महत्वपूर्ण भाव ग्रांउडिंग अर्थात डाउन टू अर्थ होना है। इस भाव को पैदा करने तथा बढ़ाने में क्रिस्टल मदद करते हैं।

११- How To Open Third Eye Without Meditation भृकुटी पर मसाज

How To Open Third Eye Without Meditation in Hindi

माथे पर दोनों आंखों के मध्य भृकुटी पर हल्के हाथों से मसाज करें। आज्ञा चक्र इसी स्थान पर स्थित है। प्रतिदिन हल्के हाथों से प्रेम पूर्वक इस स्थान पर हाथों को रगड़ने से परिवर्तन होने लगता है।

प्रेम में वह ताकत है जो एक छोटे से बच्चे को मां के स्पर्श का एहसास दिला देता है तथा वह निश्चिंत होकर सो जाता है। आज्ञा चक्र बंद होने का कारण भावनात्मक असंतुलन भी होता है।

जब इस स्थान पर प्रेममय भाव से घर्षण करते हैं तो यह सक्रिय होने लगता है।

१२- How To Open Third Eye Without Meditation सूर्य की ऊर्जा लें

सूर्योदय तथा सूर्यास्त के समय जब आकाश में जब नारंगी रंग अथवा हल्का लाल रंग निखरता है तब आंखें बंद कर सूर्य की तरफ़ चेहरा करें।

जब आप सूर्य की तरफ देखें तो ध्यान दें कि आंखें बंद तथा ध्यान भृकुटी पर हो। आप बंद आंखों के सामने रंगों को देख सकते हैं। सूर्य की यह ऊर्जा आज्ञा चक्र को जल्दी सक्रिय करने में मदद करती है।

सबसे महत्वपूर्ण है कि दोपहर अथवा धूप में इसका अभ्यास ना करें। उगते तथा डूबते सूर्य की रोशनी बिल्कुल सही है।

१३- How To Open Third Eye Without Meditation- निडर रहें

डर, मन की हर शक्तियों का शत्रु है। किसी भी प्रकार के भय से स्वयं को दूर रखें। जिन चीजों से डर लगता है, उसके बारे में ज्ञान लें, अनुभव लें तथा उसे बाहर निकालें।

डर कुछ और नहीं बल्कि कमज़ोर मन तथा असत्य का परिणाम है। इसलिए सत्य का साथ दें, स्वयं के साथ तथा दूसरों के साथ सच रहें। इस प्रकार आप अपने प्राकृतिक स्वरूप में आते जायेंगे जो आज्ञा चक्र को बिना ध्यान के सक्रिय करने में सहायक होगा।

१४- नकारात्मक घटनाओं तथा बातचीत का हिस्सा ना बनें

किसी भी नकारात्मक हालातों कैसे कि राजनीति, दूसरों के मामले में दखल अंदाजी ना करें। ऐसे हर हालात अथवा समस्याओं से दूर रहें जिनके सम्पूर्ण सच आपको पता नहीं हो अथवा आप स्वयं उसका हिस्सा ना हों।

जब आप आज्ञा चक्र को सक्रिय करने की कोशिश करते हैं तो नकारात्मक बातें, हालत अथवा बेकार की बातों में उलझना इस प्रक्रिया में बाधक बनता है। फलस्वरूप परिणाम देर से मिलते हैं।

१५- किसी भी विषय पर विचार ना करें बल्कि अपने विचारों पर गौर करें

कुछ लोगों को ज़रूरत से अधिक सोचने की आदत होती है, ओवर्थिंकिंग से बचें। इसके बजाय वर्तमान में जिएं तथा को विचार प्राकृतिक रूप से मन में आते हैं, उन पर गौर करें।

अपने आप मन में उठने वाले विचार किसी ना किसी सत्य से संबंधित होते हैं। जैसे कि टेलीपैथी में विचारों का अत्यंत महत्व है। जब आप विचारों पर ध्यान देंगे तो कल्पना शक्ति के साथ ऊर्जा को पकड़ने की शक्ति भी बढ़ती है। यह आदत आज्ञा चक्र को सक्रिय करने में सहायक है।

१६- फ्लोराइड अर्थात फिल्टर किए हुए पानी की जगह सादे पानी का इस्तेमाल करें

क्या आपको पता है फिल्टर की हुई चीज़ें स्वास्थ्य के लिए हानिकारक होती है। वैज्ञानिक शोध के अनुसार फिल्टर किए हुए पानी में फ्लोराइड की मात्रा होती है जो लंबे समय के लिए हानिकारक है।

प्राचीन समय का प्राकृतिक भोजन तथा कुएं के पानी का प्रभाव ही तो होता था जिसकी वजह से लोग जागरूक होते थे। इसलिए फिल्टर पानी अथवा अन्य बाहरी प पेय पदार्थों का उपयोग ना करें, यदि संभव ना हो और तो कम प्रयोग में लाएं।

१७- केमिकल युक्त चीजों के बजाय आयुर्वेद चीजों का इस्तेमाल करें

यदि किसी कारणवश दवाइयों अथवा अन्य पदार्थों जैसे कि प्रोटीन अथवा विटामिन का प्रयोग करना हो तो आयुर्वेदिक चीजों का प्रयोग करें। केमिकल शरीर के साथ मस्तिष्क पर नकारात्मक रूप से प्रभावित करता है। अधिक से अधिक प्रकृति से जुड़े रखने के लिए प्राकृतिक चीजों तथा माहौल में रहें।

सौंदर्य साधनों में भी कोशिश करें कि आयुर्वेदक चीजों का इस्तेमाल करना आपके स्वाभाविक अस्तित्व को उजागर करने तथा आज्ञा चक्र को सक्रिय करने में सहायक है।

१८- How To Open Third Eye Without Meditation अपनी आस्था को सम्पूर्ण विश्वास के साथ बढ़ाएं

अध्यात्मिक मनुष्य में कोई विशेष गुण होते हैं, इसीलिए वह स्वयं को आगे ले जाने के लिए रास्ते खोजता है। अपने अनुभवों तथा आस्था को प्रगाढ़ बनाने के लिए स्वयं के साथ समय बिताएं।

अपनी आस्था का अलग अलग रूप से प्रयोग कर अपने विश्वास को मजबूत बनाएं। स्वयं के साथ समय बिताकर तथा अपने विश्वास को मजबूत बनाकर आज्ञा चक्र को। सक्रिय करने में मदद कर सकते हैं। अपनी अध्यात्मिक यात्रा में विश्वास रखें।

१९- How To Open Third Eye Without Meditation- ओम का उच्चारण करें

How To Open Third Eye Without Meditation in Hindi

ओम, ब्रह्मांड से निकलने वाली वह शक्तिशाली ध्वनि है जिसका प्रयोग ऋषि मुनियों ने प्रत्येक। मंत्र में किया हैं। ब्रह्मांड की यह ध्वनि जब मस्तिष्क के अंदर गूंजती है तो सबसे अधिक आज्ञा चक्र को प्रभावित करती है।

नियमित सुबह कम से कम दस से पंद्रह मिनट ओम का विधिवत जाप आज्ञा चक्र को सक्रिय करता हैं। सुबह सूर्योदय के पहले तथा। सूर्यास्त के समय किया गया ओम का जाप विशेष लाभ देता है।

२०- किसी भी प्रकार के भावनात्मक जुड़ाव से दूर रहें

चक्रों में सबसे शक्तिशाली चक्र आज्ञा चक्र है किन्तु किसी भी भावनात्मक जुड़ाव से सबसे अधिक आज्ञा चक्र प्रभावित होता है। किसी व्यक्ति विशेष, वस्तु, परिस्थितियों से जुड़ाव आज्ञा चक्र पर धूल की तरह जमा होकर परत जमा कर देता है।

आज्ञा चक्र को सक्रिय करने के लिए Detachment अथवा किसी में नहीं उलझना लाभदायक होता है। भावनात्मक जुड़ाव ऊर्जा को नीचे गिराती है।

FAQS

Qstn: Can Your Third Eye Open by itself?  क्या आज्ञा चक्र खुद से सक्रिय हो सकता है?

उत्तर: जी हां, कभी कभी अधिक नशीली वस्तुओं के सेवन अथवा अधिक भावनात्मक बदलाव के कारण आज्ञा चक्र खुद ही सक्रिय हो जाता है।

इसका प्रभाव उल्टा हो सकता है किन्तु व्यक्ति अचानक सक्रिय हुए आज्ञा चक्र से आप विहवलित हो सकते हैं।

Qstn: What Does it Mean to Open your Third Eye?

Ans: सरल शब्दों में कहूं तो आज्ञा चक्र को सक्रिय करने का अर्थ अपने स्वाभाविक स्वरूप में आकर अपनी शक्तियों को पहचानना।

Qstn: How To close Your Third Eye?

Ans: नकारात्मक कर्म, भावनात्मक जुड़ाव तथा विचारों का नकारात्मक परिणाम पड़ता है तथा आज्ञा चक्र बंद होने लगता है।

Qstn: How Long Does it take to open your Third Eye?

Ans: आज्ञा चक्र का सक्रिय होना व्यक्ति विशेष पर निर्भर करता है, इसलिए कोई समय बताना उचित नहीं। व्यक्ति की पवित्रता तथा उसका अभ्यास समय आज्ञा चक्र सक्रिय करने का अवधि निश्चित करता है।

Final Words: आज्ञा चक्र एक पवित्र तथा अत्यंत विश्वास चक्र है। उम्मीद है आपके How To Open Third Eye Without Meditation प्रत्येक सवाल का जवाब आपको मिल गया होगा।

आर्टिकल लाभकारी लगा हो तो दूसरों के साथ अवश्य साझा करें।

Advertisement

2 thoughts on “How To Open Third Eye Without Meditation: आज्ञा चक्र”

Leave a Reply

%d bloggers like this: