Heart Chakra Opening Symptoms:अनाहतचक्र सक्रियता के 10 संकेत

Heart Chakra Opening Symptoms in Hindi कहते हैं दिल और दिमाग की जंग में अक्सर दिमाग की हार और दिल की जीत होती है। दुर्भाग्यवश आजकल दिल की सुनने वाला ही इस दुनिया मे सबसे ज्यादा परेशानियों का सामना करता है। ऐसा क्यों होता है? अपने दिल की आवाज़ को सुनकर कैसे आप अपने जीवन को मनचाहा आकार दे सकते हैं? इसके बारे में आपको सरल तथा प्रभावी टिप्स मिलेंगे।

Heart chakra opening symptoms : कुंडलिनी शक्ति, मानव जाति को मिला ईश्वर का सर्वश्रेष्ठ वरदान है। इसकी मदद से इंसान अपना जीवन मनचाहे तरीके से बिता सकता है। ऐसी Mystic शक्तियां आसानी से नहीं मिलती किन्तु छोटे छोटे कर्म करके कुण्डलिनी शक्ति को जगाया जा सकता है। इसी कुण्डलिनी शक्ति का एक अंश Heart Chakra अर्थात अनाहत चक्र है।

इस आर्टिकल में हमने अनाहत चक्र संबधी सभी प्रश्नों के उत्तर तथा गहराई में जानकारी दी है। Heart chakra opening symptoms जानने से पहले जानते हैं कि अनाहत चक्र क्या है तथा इसका शरीर में स्थान कहां है?

What is Heart Chakra in Hindi

मानव शरीर में बने अनगिनत चक्रों में से सात मुख्य चक्र माने गए हैं जो कि मेरुदंड में समाए हुए हैं। इन्हीं चक्रों के माध्यम से Root Chakra अथवा मूलाधार चक्र से उठकर कुण्डलिनी शक्ति सहस्रार चक्र तक जाती है।

इन चक्रों में एक प्रमुख चक्र Heart Chakra अर्थात अनाहत चक्र है। इस चक्र से निकलने वाली ऊर्जा सबसे शक्तिशाली होती है इसलिए कहते हैं कि प्रेम में इतनी ताकत है कि दुश्मन को दोस्त बना सकता है।

Heart Chakra Element in Hindi पांच तत्वों से बने इस शरीर में से वायु तत्व का प्रतिनिधि अनाहत चक्र करता है। जिस प्रकार वायु स्वयं अपना रास्ता खोजती है तथा स्वछंद होकर बहती रहती है उसी प्रकार अनाहत चक्र सक्रिय होने के बाद प्रेम की अविरल धारा बहने लगती है।

Heart Chakra Symbol in Hindi

Heart Chakra Symbol Images

अनाहत चक्र का हृदय के पास स्थित है तथा इसका प्रतीक बारह पंखुड़ियों वाला कमल का फूल है। प्रेम के प्रतीक अनाहत चक्र के सक्रिय होने पर मनुष्य के जीवन में खुशियां ही खुशियां आने लगती हैं।

Heart chakra Colour in Hindi

प्रत्येक चक्र अपने आप में एक रंग धारण किए हुए है। सतरंगी इन्द्रधनुष की शोभा मनुष्य के भीतर इन चक्रों में समाई हुई है। अनाहत चक्र का रंग हरा है।

जिस प्रकार प्रकृति में फैली हरियाली वातावरण की सुन्दरता है उसी प्रकार अनाहत चक्र मनुष्य के अंदरूनी सुंदरता को निखारने का प्रतीक है।

Heart Chakra Imbalance Symptoms in Hindi

शरीर में इन चक्रों का असंतुलन ही बीमारियों तथा अन्य समस्याओं का कारण हैं। Heart chakra opening symptoms जानने से पहले जानते हैं कि अनाहत चक्र के असंतुलन को कैसे पहचाना जाए। नीचे दिए कारणों पर गौर करें तथा आकलन करें कि अनाहत चक्र किस प्रकार जीवन को प्रभावित करता है।

सर्वप्रथम, अनाहत चक्र दो तरह से असंतुलित होता है, एक- heart Chakra block होने की वजह से, दो – Heart Chakra Overactive चक्र के ज्यादा सक्रिय होने से। दोनों ही अवस्था में मन तथा शरीर पर नकारात्मक प्रभाव पड़ता है।

Heart Chakra Blockage Symptoms

१- जिनका अनाहत चक्र असंतुलित होता है वे लोग शर्मीले किस्म के होते तथा तथा अपनी भावनाओं को व्यक्त नहीं करते हैं।

२- अकेले रहने वाले या अकेले रहना पसंद करने वाले लोगों का अनाहत चक्र बंद होता है।

३- अनाहत चक्र Heart Chakra के असंतुलित होने की वजह से मनुष्य पुरानी बातों को पकड़कर बैठता है, माफ़ नहीं करता तथा बदले की भावना होती है।

४- कुछ लोगों को दूसरों से सहानुभूति लेना अथवा खुद को तारीफ़ सुनना पसंद होता है, ऐसे लोगों का भी अनाहत चक्र में ब्लॉकेज होता है।

५- ऐसे लोग कठोर स्वभाव के होते हैं। उनमें दया भाव की कमी होती है तथा हमेशा खुद का अच्छा सोचते हैं, भले ही उसमें दूसरों का नुकसान हो।

६- किसी पुरानी कड़वी बातों अथवा रिश्तों में खटास को पकड़े रहने पर भी अनाहत चक्र का असंतुलन होता है तथा भविष्य में दूसरों पर विश्वास करना मुश्किल होता है।

७- दूसरों को हमेशा नीचा दिखाना तथा स्वयं को सर्वोपरि बताने वाले लोगों का भी Heart Chakra अनाहत चक्र असंतुलित होता है।

Heart Chakra Overactive Symptoms in Hindi

Heart chakra opening symptoms : दूसरी तरफ़ जिन लोगों का अनाहत चक्र अधिक सक्रिय होता है उनके जीवन का संतुलन भी बिगड़ा हुए रहता है। अति सक्रियता को ऐसे पहचानें

१- ऐसे लोग दूसरों की मदद तो करते हैं किन्तु बदले में उनसे भी उम्मीद रखते हैं। यदि वह उम्मीद पूरी नहीं हुई तो दोबारा नहीं करते अथवा बोलकर बताते हैं।

२- अनाहत चक्र Heart Chakra  अधिक सक्रिय होने पर लोगों में अत्यधिक दया भाव उमड़ जाती है। इस असंतुलन के कारण उनका ही नुकसान होने लगता है क्योंकि जीवन का संतुलन बिगड़ जाता है।

३- अनाहत चक्र के असंतुलन का एक प्रतीक यह भी है कि समाज सेवा, दान आदि करने के बाद दूसरों को भी बताते हैं क्योंकि इन्हें दूसरों से अपने कर्मों के बदले तारीफ़ की अपेक्षा होती है।

४- दूसरों से इस बात पैर ईर्ष्या अथवा जलन करना क्योंकि व वह अमीर है अथवा दूसरे लोग उसे ज्यादा पसंद करते हैं अनाहत चक्र के अधिक सक्रिय होने की निशानी है।

५- दूसरों में हमेशा गलती निकालना तथा उनके लिए नकारात्मक भावनाओं का आना भी अधिक सक्रिय अनाहत चक्र Heart Chakra की पहचान है।

जब अनाहत चक्र सक्रिय रहता है सभी नकारात्मक भावनाएं अपने आप सकारात्मक हो जाती हैं। अब देखते हैं कि Heart chakra opening symptoms क्या- क्या होते हैं? उसके बाद आप अनाहत चक्र को आसानी से कैसे सक्रिय कर सकते हैं ये भी जानेंगे।

Heart Chakra Opening Symptoms in Hindi

किसी साधना, क्रिया, ध्यान, मुद्रा के निरंतर अभ्यास से जब अनाहत चक्र सक्रिय होने लगता है तो शरीर तथा मन में कुछ परिवर्तन होने लगते हैं। इन्हीं परिवर्तन के आधार पर जाना जाता है कि अनाहत चक्र सक्रिय हो रहा है।

१- Heart chakra opening symptoms  हृदय गति का बढ़ जाना अथवा बेवजह घबराहट सा महसूस होना अनाहत चक्र के सक्रिय होने की निशानी है।

२- हृदय से अचानक ठंडी अथवा गर्म ऊर्जा का प्रवाहित होना अनाहत चक्र Heart Chakra  खुलने का संदेश देता है।

३- Heart chakra opening symptoms  सीने में हल्कापन, भारीपन दोनों ही तरह का आभास इस बात की निशानी है कि अनाहत चक्र सक्रिय हो रहा है।

४- अनाहत चक्र के सक्रिय होने पर कभी कभी अधिक पसीना आने लगता है तथा कभी कभी अत्यधिक ऊर्जावान महसूस होने लगता है।

५- Heart chakra opening symptoms  तीसरी आंख अर्थात Third Eye के खुलने का आभास होने लगता है क्योंकि अनाहत चक्र तथा आज्ञा चक्र एक दूसरे से गहराई से जुड़े हुए हैं।

६- विचारों में परिवर्तन होने लगता है, सिर्फ़ अपने अथवा अपने परिवार के बारे में ना सोचकर हृदय से सबके भले की कामना निकालने लगती है।

७- Heart chakra opening symptoms  पुरानी बातें, पुराने जख्म, दुखदाई घटनाएं या तो भूलने लगती हैं या उनके याद करने से अथवा बात करने से पहले जैसे दर्द नहीं होता है। दूसरे शब्दों में भूतकाल आप पर भारी नहीं पड़ता है।

८- Heart chakra opening symptoms  बिगड़े हुए रिश्ते बिना किसी मेहनत के बनने लगते हैं तथा को लोग अपने भविष्य के लिए अच्छे नहीं हैं वो आपके जीवन से खुद ही चले जाते हैं।

९- सीने से संबंधित, सांसों से अथवा हृदय से संबंधित बीमारियां स्वतः ठीक होने लगती हैं क्योंकि Heart Chakra  अनाहत चक्र से निकलने वाली ऊर्जा सबसे शक्तिशाली हीलिंग ऊर्जा होती है।

१०- Heart chakra opening symptoms  किसी भी काम को करने से पहले स्वयं का भला ना सोचकर समाज पर उसका क्या असर होगा इस बात को सोचकर कार्य करते हैं। दूसरे शब्दों में कहूं तो अपने कर्मों को लेकर सजगता बढ़ जाती है।

Heart Chakra Blockage in Hindi

सबसे महत्वपूर्ण है कि Heart chakra opening symptoms जानने के बाद इस बात को खयाल रखें कि यह दोबारा बंद या अधिक सक्रिय ना हो। देखते हैं किन कारणों से अनाहत चक्र बंद होने लगता है।

१- दूसरों को सफलता से जलन या ईर्ष्या करना

२- दूसरों को खुश करने के चक्कर में अपने मन की बात को अनसुना करना।

३- स्वार्थी भावनाएं अनाहत चक्र Heart Chakra  के संतुलन में अवरोध उत्त्पन्न करती हैं।

४- किसी से बेवजह झगड़ा करना, दूसरों को बुराइयां देखना तथा पीठ पीछे किसी की बुराई करने से अनाहत चक्र बंद होने लगता है।

५- पुरानी बातों को छोड़ देने और माफ़ करने के बजाय याद रखना तथा उसके अनुसार व्यवहार करना अर्थात माफ़ ना करना।

६- किसी एक विशेष व्यक्ति अथवा वस्तु से खुद को गहराई से जोड़ देना अर्थात किसी से अत्यधिक लगाव हो जाने से भी अनाहत चक्र Heart Chakra  बंद होने लगता है।

७- अत्यधिक समय अकेले रहने से भी अनाहत चक्र बंद हो लगता है यदि आप को अकेले में भी अपनी ऊर्जा को दूसरों के हित में प्रयोग करना नहीं आता।

Heart Chakra Mantra in Hindi

Heart Chakra Mantra Images

अनाहत चक्र का मंत्र है, इस मंत्र के उच्चारण से प्रवाहित होने वाली ऊर्जा अनाहत चक्र को सक्रिय तथा संतुलित करने में मदद करती है।

How to Open Heart Chakra in Hindi

Opening Heart Chakra जितना आसान है उतना ही कठिन इसको संतुलित रखना है। चलिए देखते हैं किस प्रकार आप अनाहत चक्र को आसानी से सक्रिय कर सकते हैं।

१- Heart Chakra Meditation

ध्यान एकमात्र ऐसी गहरी और प्रभावी विधि है जिससे आसानी से अनाहत चक्र को सक्रिय तथा संतुलित किया जा सकता है। कुछ दिनों के अभ्यास से ही अनाहत चक्र सक्रिय होने लगता है।

Chakra Meditation Benefits in Hindi चक्र ध्यान कैसे करें तथा इसके 7 लाभ

२- हरे रंग का प्रयोग

अनाहत चक्र हरे रंग से जुड़ा हुआ है, इसलिए अधिक से अधिक हरे रंग का प्रयोग भी Heart Chakra को सक्रिय करने में मदद करता है।
यदि आप इस चक्र को संतुलित करना चाह रहे हैं तो कपड़े, गहने, अथवा दूसरी अन्य चीजें हरे रंग का प्रयोग करें।

३- फल तथा सब्जियां

Green Fruits Images

अनाहत चक्र Heart Chakra  को सक्रिय करने के लिए सिर्फ हरे कपड़े ही नहीं बल्कि भोजन भी अत्यंत प्रभावी विधि है।
भोजन मन तथा शरीर पर विशेष रूप से प्रभाव करता है इसलिए अधिक से अधिक हरे रंग के फल जैसे कि हरा सेब तथा हरी सब्जियों जैसे कि हरे सलाद इत्यादि का सेवन करें।

४- अनाहत चक्र मंत्र

मंत्रों का सदियों से हमारे मन तथा शरीर पर विशेष प्रभाव रहा है। यदि आप अपने चक्रों को संतुलित अथवा सक्रिय करना चाहते हैं तो मंत्रों का जाप करें। जैसा कि यम् अनाहत चक्र का मंत्र है, नियमित रूप से इस मंत्र का १५-२० मिनट जाप करने से अनाहत चक्र पर प्रभाव पड़ता है।

Also Read: Mahamrityunjay Mantra In Hindi: Why And When to Chant

५- सेल्फ टॉक

सेल्फ टॉक एक अन्य प्रभावी तरीका है अनाहत चक्र Heart Chakra को संतुलित करने का। स्वयं के लिए कुछ विशेष वाक्यों को चुनें तथा नियमित रूप से सुबह इसे दोहराएं। नीचे अपने लिए कुछ उदाहरण हैं, आप चाहे तो प्रयोग कर सकते हैं अथवा खुद विशेष शब्दों का प्रयोग करके बना सकते हैं।

Heart Chakra Affirmation in Hindi

  • मैं मन की गहराई से खुद को प्रेम करती हूं तथा पूर्ण रूप से स्वीकार करता हूं।
  • मेरा अनाहत चक्र सक्रिय तथा पूर्ण रूप से संतुलित है।
  • मैं स्वयं को अपनी पुरानी गलतियों के लिए माफ़ करता हूं तथा खुले मन से प्रेम के लिए तैयार हूं।
  • मेरा मन तथा हृदय दूसरों की मदद करने के लिए तथा सबसे नि:स्वार्थ प्रेम के लिए हमेशा खुला हुआ है।
  • मैं इस धरा पर अवतरित एक जादुई व्यक्तित्व हूं जिसका हृदय सबकी खुशियों तथा सुरक्षा के लिए दुआएं देता है।

६- नाड़ी शोधन प्राणायाम

सांसों के अभ्यास द्वारा चक्रों को सक्रिय तथा संतुलित करने का बेहतरीन तथा सरल तरीका है। नाड़ी शोधन प्राणायाम से इड़ा तथा पिंगला नलिकाओं को शुद्ध कर Heart Chakra अनाहत चक्र को सक्रिय किया जा सकता है।

नाड़ी शोधन प्राणायम कैसे करते हैं जानने के लिए नीचे लिंक पर जाएं।

Nadi Shodhan Pranayam in Hindi: नाड़ी शोधन प्राणायाम का महत्व तथा 9 लाभ

७- योगासन

योगासन तथा प्राणायाम दोनों की प्राचीन समय से एक महत्वपूर्ण योगदान देते आए हैं। कुछ विशेष योगासनों के अभ्यास द्वारा Heart Chakra अनाहत चक्र को सक्रिय करने में मदद मिलती है।
योद्धा आसान, Wheel Pose तथा सूर्य नमस्कार इत्यादि आसनों के नियमित अभ्यास से अनाहत चक्र को सक्रिय किया जा सकता है।

Healing Heart Chakra/ Heart Chakra Stones in Hindi

अनाहत चक्र को Heal सक्रिय अथवा संतुलित रखने में कुछ कीमती पत्थरों का विशेष सहयोग मिलता है। निम्न Healing Heart Chakra Stones का उपयोग कर आप अनाहत चक्र को संतुलित रख सकते हैं।

  • Emerald
  • Green Aventurine
  • Jade
  • Malachite
  • Green Calcite
  • Chrysoprase
  • Green and Pink Tourmaline
  • Pink Quartz
  • Kunzite

Final Words: उम्मीद है Heart Chakra Opening Symptoms जानने के बाद आपको अनाहत चक्र को सक्रिय तथा संतुलित करने में आसानी होगी तथा आप इसको ब्लॉक होने से बचा सकेंगे।
यदि आपको आर्टिकल अच्छा तथा लाभकारी लगा तो दूसरों की मदद करें तथा आर्टिकल दूसरों के साथ साझा करें।

भवतु सब्ब मंगलम !

 

Advertisement

Leave a Reply

%d bloggers like this: