Gomati Chakra in Hindi: चमत्कारी गोमती चक्र and 18 Magical Uses

Gomati Chakra in Hindi- दोस्तों, यदि आप किसी प्रसिद्ध नेता या सेलेब्रिटी की उंगलियों पर ध्यान देंगे तो आपको सोने की अंगूठियों के साथ बहुमूल्य रत्नों से बनी अंगूठियां अवश्य दिखाई देंगी। ये आवश्यक नहीं कि वो चमकीले पत्थर हीरे ही हों।

कई ऐसे पत्थर हैं जिनकी कीमत काफ़ी कम होती है किन्तु लाभ बिल्कुल हीरे जैसा देते हैं। ये पत्थर मनुष्य के सारे ग्रह दोष दूर कर उनके जीवन में चमत्कारी परिवर्तन लाते हैं।आज हम ऐसे ही एक पत्थर के बारे में जानेंगे जो गोमती चक्र के नाम से प्रचलित है।

What is Gomati Chakra गोमती चक्र क्या है?

गोमती चक्र अत्यंत लाभकारी तथा सीप के जैसा दिखने वाला पत्थर है जो नदियों में पाया जाता है। जिसकी असली उत्त्पति गोमती नदी में माना जाता है इसीलिए इसे गोमती चक्र का नाम दिया गया है। शास्त्रों में इसे गौमाता के रूप में भी देखा जाता है। यह भगवान श्रीकृष्ण का भी पसंदीदा चक्र है।

शास्त्रों के अनुसार जब कोई गाय नदी में पानी पीती है तो उसकी जुगाली से उत्तपन्न फैण नदी के भंवर मेंजाकर अटक जाते हैं। समय के साथ इस भंवर में नदी के रेत कण भी मिलते हैं और यह चक्र के रूप में परिवर्तित होकर नदी के तल में जाकर बैठ जाता है।

नदी का पानी सूखने के बाद यही पत्थर रेत में दबा हुआ पाया जाता है जिसे हम गोमती चक्र Gomati Chakra के नाम से जानते हैं। प्रकृति के अद्भुत प्रक्रिया से उत्पन्न यह गोमती चक्र मनुष्य जीवन में अत्यंत लाभकारी साबित हुआ है।

यदि इसकी बनावट पर गौर किया जाए तो आप पाएंगे कि इसका एक साइड उभरा हुआ तथा दूसरा समतल भाग है जिसपर यह चक्र बना होता है। ज्योतिष नज़रिए से देखा जाए तो यह हिन्दी की गिनती सात के आकर में होता है। नंबर सात राहु ग्रह का अंक है तथा जल से निर्मित चीजों का संबंध चन्द्रमा से है। अतः गोमती चक्र का प्रयोग राहु के प्रभावों से बचाने में सहायक है।

Benefits of Gomati Chakra गोमती चक्र से होने वाले लाभ

गोमती चक्र के उचित प्रयोग से अनगिनत लाभ देखने के लिए मिलता है। भिन्न भिन्न प्रकार से इस चक्र का प प्रयोग कर जीवन में सुख सम्पत्ति को निमंत्रित किया जा सकता है।

१- Gomtai chakra uses in Hindi- Wealth Benefits धन लाभ हेतु

Gomati Chakra in Hindi for Finace

कभी- कभी मेहनत के बावजूद उचित सफलता नहीं मिलती तथा आर्थिक तंगी से गुजरना पड़ता है। अथवा व्यापार में लगातार हानि का सामना करना पड़ता है। तो, हम आपको कुछ ऐसे सरल उपाय बताने जा रहे हैं जिसके प्रयोग से जल्द ही आपको आर्थिक सफलता मिलेगी।

१- किसी भी मास के पहले सोमवार को ११ गोमती चक्र Gomati Chakra को अभिमंत्रित कर, हल्दी से तिलक कर इसे पीले वस्त्र में बांध दें। भगवान शिव का ध्यान कर, नदी या बहते जल में प्रवाहित कर दें। कुछ दिनों के अंदर व्यापार में वृद्धि तथा धन लाभ शुरू हो जाएगा।

२- किसी भी शुभ दिन तीन छोटे- छोटे नारियल तथा ११ गोमती चक्र की विधिवत पूजा अर्चना करें। पीले कपड़े में नारियल तथा गोमती चक्र को बांध कर आपके आफिस के दरवाजे पर लटका दें। यह प्रक्रिया आपके व्यापार को नज़र दोष से भी बचाएगी तथा जल्द ही बंद भाग्य के दरवाज़े खुल जाएंगे।

३- ११ गोमती चक्र की विधिवत पूजा कर किसी लाल वस्त्र में बांध दें। तिजोरी अथवा जिस स्थान पर भी आप धन रखते हों वहां इस पोटली को सुरक्षित रख दें, ऐसा करने से आपके धन में वृद्धि होगी।

४- नौकरी में प्रमोशन में बाधा होने पर एक गोमती चक्र किसी भी शिव मंदिर में जाकर सच्चे मन से प्रार्थना करें तथा गोमती चक्र शिव लिंग पर चढ़ा दें। महादेव की कृपा से अवश्य सफलता मिलेगी।

५- धन लाभ के लिए आपके घर के पूजा घर में किसी भी शुभ दिवस पर ११ गोमती चक्र रख दें तथा ओम् श्री नमः का जाप करें। इससे आपकी काम में रुचि बढ़ने के साथ धन लाभ भी बढ़ जाएगा।

६- यदि आपके हाथों में धन नहीं टिकता हो तो किसी भी महीने के प्रथम शुक्रवार को ११ अभिमंत्रित गोमती चक्र को पीले वस्त्र में बांध लें। मां लक्ष्मी का ध्यान कर विधिवत पूजा अर्चना करें। पोटली में से तीन चक्रों को लेकर लाल वस्त्र में बांधे तथा धन रखने के स्थान पर रख दें। तीन चक्रों को पूजा स्थल पर ही रहने दें। चार चक्र लेकर अपने घर के चारों कोनों में एक- एक चक्र को जमीन या किसी भारी वस्तु के नीचे दबा दें। अब शेष बचे एकGomati Chakra [गोमती चक्र] को किसी भी मंदिर में अपने शुभ संकल्पों के साथ अर्पित कर दें। कुछ दिन बाद ही लाभ मिलना शुरू हो जाएगा।

२- Health Benefits स्वास्थ्य लाभ हेतु

१- यदि किसी को वात की समस्या है तो गोमती चक्र की भस्म को शहद में मिलाकर पैरों के नाखूनों पर लगाने से आराम मिलता है। इससे आंखों की रोशनी भी बढ़ते पाया गया है।

२- पेट संबंधी किसी भी बीमारी के होने पर दस गोमती चक्र को रात में पानी में भिगा कर रखें। सुबह खाली पेट इस पानी के सेवन से रोग से मुक्ति मिलती है।

३- यदि घर का कोई भी सदस्य लंबे समय से बीमार है तो एक अभिमंत्रत Gomati Chakra गोमती चक्र को चांदी में बनवाकर रोगी के पलंग के पाए में बांध दें। जल्दी ही रोगी को आराम होना शुरू हो जाएगा।

२- नज़र दोष से बचाव हेतु

१- यदि घर के किसी सदस्य को बार बार नज़र दोष की समस्या होती है तो गोमती चक्र इस समस्या से समाधान दिलाने में सक्षम है। पीड़ित व्यक्ति के साथ किसी सुनसान जगह जाकर, ३ गोमती चक्र अपने ऊपर सात बार घुमाकर अपने पीछे फेंक आए तो नज़र दोष से बच जाता है। विशेष ध्यान रहे कि गोमती चक्र फेंकने के बाद पीछे मुड़कर न देखें।

२- अक्सर देखा गया है कि कुछ बच्चे अनायास ही डर जाते हैं। कभी कभी उस डर की वज़ह से बीमार भी हो जाते हैं। ऐसे में किसी भी महीने के प्रथम मंगलवार को हनुमान मंदिर जाएं तथा मूर्ति के दाएं कंधे से सिंदूर लेकर गोमती चक्र पर तिलक करें। तिलक किए गोमती चक्र का विधिवत पूजन अर्चना कर किसी लाल वस्त्र में बांधकर बच्चे के गले में पहना दीजिए। इस युक्ति से बच्चे का डर धीरे धीरे समाप्त हो जाएगा।

३- कभी कभी तांत्रिक प्रभाव भी परिवार की तरक्की में बाधक अथवा घर में अशांति फ़ैलाने का कारण बन जाते हैं। यदि आपको ऐसे किसी प्रभाव का आभास हो रहा हो तो किसी भी बुधवार के दिन चार गोमती चक्र हथेलियों में बंद कर अपनी समस्या से मुक्ति की प्रार्थना करें तथा उसे अपने सिर के ऊपर से घुमाकर चारों दिशाओं में फेंक दें। जल्दी ही सकारात्मक परिणाम देखने के लिए मिलेंगे।

४- यदि आपके विरोधियों की संख्या बढ़ रही हो और इसकी वजह से आपके जीवन में किसी भी तरह से प्रभाव पड़ रहा है तो यह क युक्ति सहायक होगी। शत्रु के नाम में जितने भी अक्षर हों, उतनी संख्या में गोमती चक्र लें, नाम के एक एक अक्षर को प्रत्येक गोमती चक्र पर लिखें तथा उन्हें ज़मीन में गाड़ दें।

५- यदि किसी कारणवश बार बार गर्भपात हो रहा होता तो गोमती चक्र से बना लोकेट पीड़िता की कमर में बांध दें। जल्दी ही यह समस्या से मुक्ति मिल जाएगी।

Also Read: Power and Benefits of Muladhara Chakra [Root Chakra] In Hindi

३- वास्तु दोष

Gomati Chakra for Vastu

किसी भी प्रकार के वास्तु दोष निवारण हेतु अथवा अपने घर को नज़र से बचाने के लिए ११ अभिमंत्रित गोमती चक्र को ज़मीन के नीचे नींव में दबा दें।

४- पारिवारिक सुख शांति हेतु

वैवाहिक जीवन अथवा परिवार में सुख शांति लाने अथवा बनाए रखने के लिए किसी भी लाल सिंदूर के डिब्बे में ११ अभिमंत्रित गोमती चक्र बंद करके रख दें।

५- किसी भी कोर्ट कचहरी या अन्य लीगल कामों में सफलता पाने के लिए, अपनी जेब में ५- गोमती चक्र रखकर घर से बाहर निकलें। सफलता अपने कदम चूमेगी।

Gomati Chakra se vashikaran वशीकरण के लिए गोमती चक्र का प्रयोग

गोमती चक्र द्वारा आप अपने व्यक्तित्व को निखार कर अधिक प्रभावशाली बना सकते हैं। तांत्रिक विद्या में कई तरह से इसका प्रयोग वशीकरण के लिए आजमाया जाता है। कुछ स्व लाभ हेतु प्रयोग आपके लिए लाए हैं।

१- यदि आप किसी इंटरव्यू आदि के लिए जाने वाले हों तो अभिमंत्रित गोमती चक्र को गले या फिर अंगूठी में धारण कर लें। इसके फलस्वरूप आप जिससे भी मिलते हैं उसपर प्रभावी असर पड़ता है।

२- यदि आपका पढ़ाई में या अन्य कामों में ध्यान न लगता हो तो अपने चंचल मन पर नियंत्रण पाने के लिए एक अभिमंत्रित गोमती चक्र को अपने सिर के ऊपर से सात बार घुमाएं। उस गोमती चक्र को चुपचाप दक्षिण दिशा में फेंक आएं। धीरे धीरे आपका मन आपके अनुसार काम करने लगेगा।

How to energize Gomati Chakra गोमती चक्र को कैसे अभिमंत्रित करें

किसी भी पत्थर का पूरा पूरा लाभ लेने के लिए उसका अभिमंत्रित होना अर्थात energize होना अति आवश्यक है। इस विधि द्वारा आप स्वयं घर पर ही गोमती चक्र को अभिमंत्रित कर सकते हैं।

१- गोमती चक्र की स्थापना किसी भी सोमवार को सूर्योदय के समय पूर्व दिशा में मुख करके करें।

२- गाय का शुद्ध दूध लें तथा गोमती चक्र को इसमें डालकर धोने के पश्चात किसी साफ़ कपड़े से पोंछ लें।

३- एक थाली में कुछ चावल रखें तथा उसके ऊपर गोमती चक्र रख दें।

४- घी के दीप एवम् अगरबत्ती जलाकर पूजा करें।

५- अब किसी भी माला का प्रयोग कर पांच माला लक्ष्मी माता मंत्र का जाप करें।

६- १४ दिन तक लगातार एक ही समय पर मंत्र जाप करें। इस तरह कुछ मिलाकर सत्तर माला का जाप पूर्ण हो जाता है।

७- इस चौदह दिन की साधना के पूर्ण होने के पश्चात गोमती चक्र को घर के मंदिर या दफ़्तर में लक्ष्मी माता की मूर्ति के सामने रख दें।

८- प्रयोग किए गए चावल को किसी नदी, तालाब या समुद्र में प्रवाहित कर दें।

Also Read: Benefits of Third Eye Activation in Hindi

Gomati Chakra Mantra गोमती चक्र मंत्र

Gomati Chakra in Hindi by MysticMind

श्री महालक्ष्मी मंत्र
ओम् ह्रीम महालक्ष्मी श्री चिर लक्ष्मी ऐम् ममगृहे आगच्छ आगच्छ स्वाहा!

FAQs: 

1- Gomati chakra price गोमती चक्र की कीमत ?

गोमती चक्र जब भी खरीदें ग्यारह या इक्कीस या इससे आगे की संख्या में खरीदें। इसकी कीमत स्थान, गुणवत्ता पर निर्भर करती है। यदि आप अभिमंत्रित खरीदेंगे तो ज्यादा महंगा मिलेगा। मेरी राय में आप इसे खरीदकर स्वयं अभिमंत्रित करें।

2- How to identify original gomti chakra असली गोमती चक्र की पहचान कैसे करें?

Gomati Chakra

असली गोमती चक्र एक तरफ़ से सीप की तरह उभरा हुआ तथा दूसरी तरफ़ पूर्ण समतल होता है। समतल भाग पर हिंदी की गिनती सात अथवा सांप के आकार का निशान होता है। इसलिए इसे सर्प चक्र या नाग चक्र के नाम से भी जाना जाता है।

3- Gomti chakra where to buy गोमती चक्र कहां से खरीदें?

यदि आपको गोमती चक्र की सही पहचान है तो आप किसी भी पूजा स्थान से, या फिर अमेज़न से भी खरीद सकते हैं। आप हमें भी ईमेल द्वारा संपर्क कर सकते हैं।

4- how to use Gomati Chakra ring/ pendant?

गोमती चक्र को शुद्ध चांदी की अंगूठी या पेंडेंट में बनाकर पहना जा सकता है। किसी भी सोमवार अथवा शुक्रवार को स्नान आदि के पश्चात श्री गणेश तथा श्री लक्ष्मी माता की पूजा अर्चना करें। १०८ बार लक्ष्मी मंत्र के जाप के पश्चात इसे धारण करें।

5- How to keep Gomati Chakra गोमती चक्र का रख- रखाव कैसे करें?

जैसा कि आपने देखा कि यह सबसे सस्ता किन्तु अत्यंत उपयोगी पत्थर है। कुछ लोग इसे भगवान शिव के नेत्र समान मानते हैं। गोमती चक्र को, पूजा घर, कार्य क्षेत्र, मुख्यद्वार, तिजोरी या पैसे रखने के स्थान पर, घर के हाल में या उत्तर तथा पश्चिम कोने में रख सकते हैं। जहां भी रखें, बस खयाल रखें कि कोई हाथ न लगाए तथा प्रतिदिन दीप अगरबत्ती दिखाएं।

Leave a Reply

%d bloggers like this: