Crown Chakra Opening Experience and 5 Miracle Sign of सहस्रार चक्र

Crown Chakra Opening Experience दोस्तों, क्राउन चक्र खुलने के अनुभव से पहले थोड़ा सा इस चक्र के बारे में विस्तार में जान लेते हैं. ताकि अनुभवों को समझने में आसानी हो जाए।

What is Crown Chakra मुकुट क्या है?

क्रॉउन चक्र जिसे हिंदी में सहस्रार चक्र भी कहते हैं। यह चक्र सिर के ऊपर – तालू जो छोटे बच्चों में साफ़ देखा जा सकता है उसके ठीक ऊपर स्थित होता है। इसे आध्यात्मिक दुनिया का दरवाजा भी कहा जा सकता है। यह उन सात चक्रों में से सर्वोच्च तथा सातवां चक्र है जो मनुष्य के शरीर की रीड की हड्डी में स्थित होते हैं। प्रथम चक्र अर्थात मूलाधारा चक्र है, जहां कुंडलिनी शक्ति सुप्त अवस्था में दबी रहती है।

Also Read: Muladhara Chakra Activation: Powers and Benefits of Root Chakra

Meaning of Crown Chakra in Hindi

Crown Chakra Opening Experience by MysticMind

सहस्रार का शाब्दिक अर्थ होता है – हजारों अथवा अनंत पंखुड़ी वाला कमल। सभी चक्रों की भांति इसका कोई रंग नहीं होता बल्कि यह शुद्ध सफ़ेद होता है। इसकी पंखुड़ियां इंद्रधनुषी रंग की होती है। दूसरे शब्दों में इसे मुकुट चक्र भी कहा जाता है।

Crown Chakra Opening Experience इसी सहस्त्रार चक्र के अनुसार मनुष्य का औरा बनाता है। इस चक्र के सक्रिय होते ही अनंत की अनुभूति होने लगती है। सारे चक्रों से होती कुण्डलिनी शक्ति जब इस चक्र तक पहुंचती है तो अविस्मरणीय तथा अद्भुत अनुभव होने लगते हैं।

जब व्यक्ति ध्यान अथवा अन्य किसी साधना द्वारा इन चक्रों को खोलने की कोशिश करता है तो एक-एक कर सारे चक्र सक्रिय होने लगते हैं।

इन चक्रों के सक्रिय होने के साथ हमें कई सारे अद्भुत अनुभव भी देखने के लिए मिलते हैं। आज हम सहस्रार चक्र के सक्रिय होने के अनुभव को आपके साथ शेयर करने जा रहे हैं।

Also Read: Third eye activation in Hindi

Crown Chakra Opening Experience/ Symptoms in Hindi

मुकुट चक्र के खुलने के अनुभव/ संकेत

क्राउन चक्र सक्रिय होने का अर्थ है कि आपकी अध्यात्मिक जागृति में प्रगति हो रही है। कुण्डलिनी शक्ति जब मूलधारा चक्र से उठकर क्राउन चक्र तक पहुंचती है तो अविस्मरणीय और अद्भुत अनुभव होने लगता है।

१- Crown Chakra Opening Experience सिर में चुनचुनाहट सी होने लगती है। ऐसा लगता है जैसे सैकड़ों चीटियां सिर में चारों तरफ़ रेंग रही हों। यह कोई डरावना नहीं बल्कि सुहाना सा अनुभव होता है।

मन बुद्धि में दबे संस्कार, पुरानी भावनाएं जो आपकी अध्यात्मिक प्रगति में बाधक होती हैं, सब ब्रह्मांड में विलीन होने लगती है। जब इस तरह से सिर में अनुभव होने लगे तो समझ जाएं कि क्राउन चक्र सक्रिय हो रहा है।

ऊर्जा इसी प्रक्रिया के दौरान आपके शरीर और जीवन से सारी नकारात्मकता निकाल आपको शुद्ध करती है। परिणास्वरूप आपका मन शांत तथा पवित्र होने लगता है।

२- sahasrara chakra opening- सबसे अधिक मनुष्य आसक्तियों में उलझा रहता है। बात चाहे रिश्तों की हो धन दौलत या अन्य किसी भी प्रकार की आसक्ति, आपकी अध्यात्मिक प्रगति में सबसे बड़ी बाधक है। जैसे ही क्राउन चक्र सक्रिय होने लगता है, आसक्तियां अपने आप टूटने लगती हैं।

दूसरे शब्दों में कहूं तो आप एक अविरल बहती नदी सा बन जाते हैं। जिसे अपना रास्ता बनाकर आगे बढ़ना आता है। कोई भी बाधा या रुकावट उसे बहने से रोक नहीं सकती।

आपकी पुराने और सीमित सोच टूटने लगती है। विचार धारा बदल जाती है। संक्षिप्त में कहूं तो आपकी आसक्तियां टूटकर आपको इस सारी सृष्टि को एक नज़र से देखने की क्षमता आ जाती है।

३- Crown Chakra Opening Experience जैसे ही यह चक्र सक्रिय होता है, आपका ऊर्जा के साथ संबंध अधिक घनिष्ठ हो जाता है। आपको ऊर्जा महसूस होने लगती हैं आप अनुभव कर सकते हैं कि किस बात या मनुष्य से नकारात्मक ऊर्जा आ रही है।

परिणास्वरूप आपकी भोजन प्रणाली बदल जाती है। भोजन से मिलने वाली ऊर्जा को भी आप अनुभव कर लेते हैं। अतः शाकाहार या ताजे फलों की तरफ़ आपका रुझान बढ़ जाता है।

आपकी दिनचर्या अब तक चाहे जैसी भी रही हो, क्राउन चक्र की सक्रियता के बाद उसमें बदलाव आ ही जाता है। समय और जीवन के प्रति आपकी सजगता बढ़ जाती है। परिणास्वरूप समय पर काम करना, खाना पीना सोना आदि सब अपने आप समयानुसार होने लगते हैं।

४- Crown Chakra Opening Experience in Hindi  कई बार आपको सिर के ऊपर दबाव के साथ पीड़ा का भी अनुभव हो सकता है। जब आप अपने मन के विरोध में जाकर या समाज को खुश करने के लिए कुछ करते हैं तो ऐसा अनुभव होता है।

जैसा कि हमने देखा यह चक्र आपको अध्यात्म के सर्वोच्च स्तर पर ले जाता है। जिसका अर्थ यह भी है कि यह आपको एक बेहतर मनुष्य बनाता है। ऐसे में जब आप सांसारिक वस्तुओं में परिस्थितियों में उलझते हैं तो ऊर्जा अवरुद्ध होने लगती है। इसी समय यह दबाव या पीड़ा का अनुभव होता है।

५- Crown Chakra Opening Experience in Hindi कभी कभी सिर में गर्मी तथा कभी कभी अपार ठंडक महसूस होना भी क्राउन चक्र के सक्रिय होने का सबूत है। यह ठंडक जैसे पानी में भीगने के बाद आभास होता है वैसा नहीं बल्कि बहुत ही अद्भुत होता है। आप अपने सिर के ऊपर नहीं बल्कि सिर के अंदर इसे अनुभन कर पाते हैं।

ये सारे अनुभव आपको वर्तमान में खींचे रखते हैं। दूसरे शब्दों में कहें तो क्राउन चक्र आपको सभी पुरानी बातों से निकाल कर वर्तमान में जीने के साथ कई सुखद अनुभव भी कराता है।

६- Crown Chakra Opening Experience जैसे ही क्राउन चक्र सक्रिय होता है, आपको ये सारे अनुभव एक जिज्ञासु बना देते हैं। आप चाहे कितने बड़े पढ़ाकू या ज्ञानी क्यों ना हों, ये अनुभव आपमें जीवन का गहराई से अध्ययन करने की प्यास बढ़ा देते हैं।

अभी तक के सीखे ज्ञान से आगे अभी बहुत कुछ है इस बात का एहसास आपको सीखने के लिए प्रेरित करता है।

Crown Chakra Opening Experience in Hindi मेरा अपना एक छोटा सा किन्तु जीवन बदलने वाला अनुभव आपके साथ साझा कर रही हूं। जैसे तालाब के ठहरे हुए पानी में यदि एक छोटा सा कंकड़ फेंक दिया जाए तो समूचे तालाब के ऊपरी सतह पर बैठी धूल मिट्टी किनारे चली जाती है। पानी पहले से स्वच्छ दिखने लगता है। ठीक वैसा ही अनुभव क्राउन चक्र के सक्रिय होने पर हुआ।

ऐसा लगा जैसे अचानक सब कुछ बदल सा गया है। किसी पुरानी बातों का अफ़सोस या किसी से कोई राग द्वेष नहीं रहा। एक वाक्य में कहूं तो इसी शरीर में पुनर्जन्म हो गया है जहां इस बात की अनुभूति है कि इस जीवन को सच्चे मन से भरपूर जीना है तथा इसे सार्थक करना है।

Also Read: Meditation Tips in Hindi

Crown Chakra Opening Experience and Its powers

Crown Chakra Opening Experience and its powers

सहस्रार चक्र अनंत शक्तियों का स्रोत है। इस चक्र के खुलने के साथ ही आप इन शक्तियों को आसानी से जीवन में प्रयोग करना आरंभ कर देते हैं।

१- Crown Chakra Opening Experience यह चक्र जीवन की सर्वोच्च स्थिति के साथ ईश्ववर से आपका मिलन तथा अनुभव कराता है।

२- यह चक्र दिव्य शांति तथा आनंद का स्रोत है। यह। चक्र मनुष्य में परम शक्ति के सामने समर्पित हो सर्वश्रेष्ठ जीवन दान प्रदान करता है।

३- व्यक्ति समाज, परिवार, धर्म जाति के बंधन में बंधकर स्वयं को सीमित बना देता है। Crown chakra असीमित शक्तियों तथा अनुभवों के साथ आपको असीमित जीवन का वरदाता है।

४- यह चक्र परम ज्ञान, आत्म ज्ञान, तथा वास्तविकता दिखाने वाला दिव्य ज्योति है।

५- Crown chakra इस दुनिया में रहकर उस अदृश्य दुनिया का अनुभव कराता है जिसके बारे में आपने कहानियों में सुना है। जीवन की सत्यता से जोड़ने का स्रोत यह सहस्रार चक्र है।

Crown Chakra Opening Experience and Benefits in Hindi

Crown Chakra Opening Experience क्राउन चक्र के सक्रिय तथा संतुलित रहने से जीवन मानों स्वर्ग सा बन जाता है।

१- साक्षी भाव

साक्षी भाव अर्थात दृष्टा भाव बढ़ जाता है। परिस्थितियों का आप पर कोई प्रभाव नहीं पड़ता। किसी भी परिस्थिति में आप संयम तथा विवेक के साथ काम लेने लगते हैं।

Crown Chakra Opening Experience उदाहरणस्वरूप, यदि किसी करीबी और प्यारे व्यक्ति के साथ कोई दुर्घटना हो जाती है तो सबसे पहले मनुष्य रोने बिलखने लगता है। दूसरे शब्दों में कहें तो दुःख वाला भाव उसपर हावी हो जाता है। इस चक्र के खुलने का फ़ायदा यह होता है कि मनुष्य दुखी होने के बजाय उसे तुरन्त अस्पताल ले जाने के उपाय खोजने लगता है।

दूसरा उदाहरण है, कई बार इंसान दूसरों के झगड़े में भी अपना मत लेकर उलझ जाता है। इससे उसकी मानसिक शांति बिगड़ती ही है वह गलत कर्म भी कर बैठता है। इस चक्र के खुलने के बाद व्यक्ति का विवेक इतना बढ़ जाता है कि उसे हर पल एहसास होता है कि को रहा है, अच्छे के लिए ही हो रहा है।

२- कमल पुष्प समान स्थिति

Crown Chakra Opening Experience and lotus

Crown Chakra Opening Experience in Hindi कमल के फूल की खास विशेषता है कि वह कीचड़ में रहता है किन्तु कीचड़ का एक बूंद भी उसपर नहीं होता। बिल्कुल कमल के फूल जैसा आपका चित्त हो जाता है। चाहे परिस्थितियां या आस पास ले लोग कितने भी बुरे क्यों ना हो, आप पर असर नहीं कर सकते।

Crown chakra activation के साथ सारी अदृश्य शक्तियां जाग जाती हैं। आपका साथ देने लगती हैं, तथा आपको सही राह दिखाने लगती हैं। परिणामस्वरूप आप अपने अस्तित्व को सीमित रखकर भी असीमित तथा अद्भुत नाम मान शान के भागीदार बन जाते हैं।

Symptoms of Overactive Crown or Blocked Chakra
बंद तथा अति सक्रिय मुकुट चक्र के लक्षण

Crown Chakra Opening Experience in Hindi कभी कभी कुछ लोगों का क्राउन चक्र संतुलित ना होकर बंद या ज़रूरत से ज्यादा सक्रिय हो जाता है। दोनों ही मामले में यह ठीक नहीं है। चलिए देखते हैं कि कैसे जाने कि किसी का crown chakra overactive है?

१- ऐसे लोग जो दिखावटी तथा आडंबरों में विश्वास करने वाले होते हैं उनका यह चक्र अत्यधिक सक्रिय होता है।

२- अपने विचारों अथवा मान्यताओं को लेकर अत्यंत कट्टर होते हैं। चाहे कितना भी नुकसान हो जाए, किसी भी हाल में अपने विचारों को नहीं बदलते।

३- स्वार्थ, लालच, घृणा, दूसरों की कमियां खोजना, दूसरों को नीचा दिखाना तथा बड़बोले होने वाले लोगों का यह चक्र असंतुलित होता है।

४- स्वार्थवश भ्रष्टाचार का हिस्सा बनना और गलत लोगों का साथ देने वालों का भी यह चक्र असंतुलित होता है।

५- जिनका crown chakra overactive or close होता है वे लोग अक्सर चिंता से घिरे होते हैं। परिणामस्वरूप सिर से संबंधित बीमारियों के शिकार बन जाते हैं।

६- ऐसे लोग स्वयं की दिशा तय नहीं कर पाते तथा भटकते रहते हैं। ऐसे में इनके विचार उद्वेलित होते हैं तथा ये लोग उदास रहने लगते हैं।

७- Crown Chakra Opening Experience in Hindi अधिक सक्रिय मुकुट चक्र वाले लोग कई बार भौतिकवादी भी होते हैं लेकिन अक्सर भौतिकवाद से दूर रहना पसंद करते हैं।

८- ऐसे लोग दूसरों पर अपना आधिपत्य जताकर या उनको नीचा दिखाकर स्वयं शक्तिशाली महसूस करते हैं।

९- कई बार मनुष्य चीजों को लेकर अत्यधिक संवेदन शील बन जाता है। परिणामस्वरूप वह अधिक परेशान तथा बीमार रहने लगता है। उसकी भावनाएं उसपर हावी हो जाती हैं।

Final words: Crown Chakra activation के बाद आपका जीवन ३६० डिग्री परिवर्तित हो जाता है। जीवन की आपकी ये अध्यात्मिक यात्रा सुखद हो, हम इसकी मंगल कामना करते हैं।

 यदि आपको Crown Chakra Opening Experience in Hindi लेख अच्छा लगा हो तो लाईक और कॉमेंट करके बताइए। दूसरों के साथ साझा करना ना भूलें।

धन्यवाद

Leave a Reply

%d bloggers like this: