Chit Shakti Meditation in Hindi: चित शक्ति मेडिटेशन के 4 प्रकार, विधि एवं लाभ

Chit Shakti Meditation in Hindi चित शक्ति मेडिटेशन दक्षिण भारत के सुप्रसिद्ध योग गुरु सदगुरु द्वारा सिखाई जाने वाली एक प्रसिद्ध तथा असरदार ध्यान विद्या है।

१५ से २० मिनट के ध्यान में आप अपनी ज़िन्दगी में स्वास्थ्य, सफलता, शांति तथा संबंधों की रचना स्वयं करते हैं।

Chit Shakti Meaning in Hindi

चित्त संस्कृत शब्द है जो मन की गहराइयों में है। दूसरे शब्दों में इस मानस पटल भी कह सकते हैं। इसकी शक्ति से ही व्यक्ति अपने दिन, जीवन की रचना करता है।

आज के समय में अधिकतर लोग अपने स्वयं के चित्त की शक्तियों से अनभिज्ञ हैं। इसी अज्ञानता का परिणाम दुःख, अशांति तथा असफलता है।

चित्त शक्ति ध्यान को करने से पहले इसे भली भांति समझ लेने से ध्यान की गहराइयों में जाना आसान हो जाता है।

What is Chit Shakti Meditation चित शक्ति ध्यान क्या है?

क्या आपको पता है, कोई भी चीज़ जीवन में दो बार होती है? राईट भाइयों ने हवाई जहाज दो बार बनाई, एक बार मन में तथा दूसरी बार हकीक़त में। महात्मा गांधी ने सत्य अहिंसा के बल पर दो बार देश को आज़ाद कराया, एक बार खयालों में तरह दूसरी बार हकीक़त में।

अक्सर मनुष्य अपनी बुद्धि के ऊपरी सतह से अपना जीवन चलाता है। आपको यह जानकर आश्चर्य होगा कि बुद्धि का दायरा सिर्फ़ उतना ही होता है जितना आपको किसी विषय पर पूर्व ज्ञान है। अपने पूर्व ज्ञान के बल पर स्वयं को बुद्धिमान अथवा ज्ञानी समझना स्वयं की शक्तियों को बाहर आने से रोकना है।

मानव मन का दूसरा हिस्सा अर्थात चित्त का दायरा असीमित है। ऊपर की व्याकुलता को शांत कर जब आप चित्त के स्तर पर जाते हैं, तो वहीं हर चमत्कार की शक्ति से आपका परिचय होता है।

चित शक्ति ध्यान  Chit Shakti Meditation के माध्यम से आप अपने बुद्धि के दायरे से बाहर निकलकर चित्त की गहराइयों तक जा सकेंगे। इतना ही नहीं, अपनी शक्तियों का प्रयोग कर मनचाहा जीवन बना सकेंगे।

दूसरे शब्दों में कहूं तो यदि आपको अपने जीवन में बदलाव लाने की चाह है तो अपने पूर्व ज्ञान को किनारे कर नए ज्ञान को सरलता से स्वीकार करना होगा। जबरदस्ती नहीं बल्कि बस एक प्रयोग के रूप में कुछ दिनों तक Chit Shakti Meditation चित शक्ति ध्यान का अभ्यास करें।

Also Read:

How to Sit for Chit Shakti Meditation चित शक्ति मेडिटेशन के लिए कैसे बैठें?

नीचे Chit Shakti Meditation चित शक्ति मेडिटेशन की चार विधियां हैं, जिनमें बैठने की अवस्था सभी में समान रहेगी। जब आप ध्यान शुरू करेंगे तो मन को अलग अलग दिशा देनी है।

१- दोनों पैरों को सीधा फैलाकर बैठ जाएं। कमर का ऊपरी हिस्सा अर्थात रीढ़ की हड्डी से सिर तक बिल्कुल सीधा रहें।

२- दोनों हाथों को दोनों पैरों अर्थात दाहिने हाथ को दाहिने पैर तथा बाएं हाथ को बाएं पैर की जांघ पर रखें। हथेली को ऊपर की ओर खुला रखें।

३- पैरों के तलवे में खिंचाव लाएं, फिर उसे ढीला छोड़ दें। इसी प्रकार घुटने के नीचे का हिस्सा, जांघें, कमर, कमर के ऊपर का हिस्सा, पीठ, पेट, छाती, गर्दन, दोनों हाथ तथा सिर, प्रत्येक अंग में पहले खिंचाव लाएं फिर ढीला छोड़ दें।

४- सिर, गर्दन, दोनों हाथ, छाती, पेट, पीठ, कमर, जांघें, घुटने के नीचे का हिस्सा तथा पैरों के तलवे, एक एक कर पहले इनमें खिंचाव लाएं, फिर ढीला छोड़ते जाएं।

इस प्रक्रिया को तीन बार दोहराएं।

नोट: नीचे दिए ध्यान को शुरू करने से पहले ये चार स्टेप करने हैं। फिर ध्यान की शुरुआत करनी है।

Chit Shakti for Success in Hindi सफलता के लिए चित शक्ति ध्यान

Chit Shakti for Success Image

Step १,२,३,४ ऊपर की भांति करें।

५- अपने शरीर के भार को कम होते तथा स्वयं को ऊपर उठता हुआ महसूस करें। पहले अपने शरीर से, फिर घर से, फिर कॉलोनी से, शहर से उपर आसमान में जाता हुआ देखें।

६- Chit Shakti Meditation आसमान में पहुंचने के बाद नीचे के नज़ारों को देखकर कैसा महसूस होता है, अनुभव लें।

७- अपने सामने सबसे ऊंची पहाड़ी की चोटी को ध्यानूर्वक देखें तथा धीरे धीरे उसकी चोटी पर खुद को ले जाएं। वहां से आस पास सब कुछ कितना छोटा दिखता है, अनुभव करें। उस चोटी पर खड़े होकर अपने तीन लक्ष्यों को अपने सामने लाएं अर्थात कल्पना करें।

८- ठंडी बहती हवा, पर्वत की श्रृंखला पर खड़े होकर कल्पना करें कि आपका लक्ष्य पूरा हो जाने पर आपको क्या अनुभव हो रहा है? अपने शरीर में, हृदय में, कैसा अनुभव होता है इसका अवलोकन करें।

९- जितनी देर उस अवस्था में, उस माहौल में रहने का मन हो, रुकें, अनुभव करें। फिर जिस रास्ते वहां गए थे उसी प्रकार वापस ध्यान को जिस स्थान पर बैठे हैं, वहां लाएं। अपनी हाथ पैर की उंगलियों को हिलाएं और चेतना को वर्तमान में लाएं।

Chit shakti for Health in Hindi स्वास्थ्य कि लिए चित शक्ति ध्यान

किसी भी बीमारी को, बड़ी से बड़ी बीमारी को ठीक करने की शक्ति ध्यान में है। यदि आप किसी बीमारी को ठीक करने के लिए इस ध्यान को कर रहे हैं तो उस अंग पर अधिक देर तक ध्यान रोकें। उस विशेष अंग की ध्यान अवस्था में बारीकियों से निरीक्षण करें।

Chit shakti for Health in Hindi Image

Step १,२,३,४ ऊपर की भांति करें।

५- Chit Shakti Meditation संपूर्ण शरीर को ढीला छोड़ने के बाद ध्यान को सिर के सर्वोच्च स्थान अर्थात तालू पर ध्यान ले जाएं। सफ़ेद जगमगाते सितारों को अपने सिर में प्रवेश करते देखें।

६- ध्यान को संपूर्ण सिर में घुमाएं, जहां जहां ध्यान ले जा रहे हैं, हर उस जगह उज्ज्वल ऊर्जा के कणों को फैलते हुए देखें। सिर, संपूर्ण चेहरा, गरदन कंधा, दाहिना हाथ, बायां हाथ, छाती, पेट, पेट के नीचे का हिस्सा, पीठ, कमर, कमर के नीचे का हिस्सा, दाहिनी जांघ, घुटने, घुटने से नीचे का हिस्सा, तलवे, उंगलियां, बाईं जांघ, घुटने, पिंडलियां, तलवे उंगलियां। संपूर्ण शरीर में जगमगाते सफ़ेद ऊर्जा के कणों को देखें।

७- यही प्रक्रिया तलवों से शुरू कर सिर तक ले जाएं। कम से कम से चार बार इस प्रक्रिया को ऊपर से नीचे तथा नीचे से ऊपर दोहराएं। ध्यान रहे यदि आप किसी अंग विशेष को ठीक करना चाहते हैं तो वहां ज्यादा देर तक रुकें। उस अंग का ज्यादा सूक्ष्मता से निरीक्षण करें।

८- प्रक्रिया पूरी होने के बाद धीरे धीरे ध्यान को वर्तमान में लाएं। हाथ पैर की उंगलियों को हिलाएं और आंखें खोलें।

Also Read: Tratak Kriya in Hindi: 7 Lesser Known Benefits of Most Powerful Meditation

Chit Shakti Meditation for Love in Hindi प्रेम के लिए चित शक्ति ध्यान

इस प्रेम का अर्थ किसी व्यक्ति विशेष से नहीं है बल्कि उस शाश्वत प्रेम से है जिससे इस सृष्टि का निर्माण हुआ है। यदि आप इस प्रेम की ऊर्जा को सृष्टि में प्रवाहित करेंगे तो व्यक्ति विशेष भी इस सृष्टि का एक हिस्सा हैं। आपकी ऊर्जा उन तक ज़रूर पहुंचेगी।

Chit Shakti Meditation प्रेम की ऊर्जा सबसे तीव्र ऊर्जा है, इसे सीमित ना रखकर असीमित प्रवाहित करें। आप जो ब्रह्मांड को देंगे वही आप के पास सौ गुना होकर वापस आता है।

Chit Shakti Meditation for Love in Hindi

Step १,२,३,४ ऊपर की भांति करें।

५- Chit Shakti Meditation शरीर को शिथिल कर स्वयं को शरीर से ऊपर उठता हुआ देखें। शरीर से ऊपर, अपने घर से ऊपर, कॉलोनी, शहर से ऊपर जाते हुए देखें।

६- ऊपर जाते समय नीचे की चीजों पर ध्यान दें, कैसे सब कुछ सूक्ष्म होता जा रहा है। ऊपर चलते चले जाएं, आकाश की उज्ज्वल ता में स्वयं को घिरा हुआ देखें। जैसे जैसे आप ऊपर उठते जाएंगे आपको पृथ्वी पर फैला समुंदर नज़र आने लगेगा।

७- स्वयं को इतनी ऊंचाई पर ले जाएं जहां से संपूर्ण पृथ्वी दिख रही हो। ग्लोब के एक छोर पर जाकर, ध्यान को स्थिर करें। बारीकी से ध्यान दें, पृथ्वी पर फैला हुआ जल तत्व, पहाड़ियां, वृक्ष सभी पर ध्यान दें।

८- पृथ्वी की सुन्दरता से प्रभावित हो आपके हृदय से जिस ऊर्जा का प्रवाह हो, उस पर गौर करें। उस ऊर्जा को संपूर्ण पृथ्वी पर फैलते हुए देखें। सभी जीव, जंतु, मानव, पेड़, नदी, तालाब, पांचों तत्व, सभी ग्रहों पर अपने हृदय से निकलती ऊर्जा को प्रवाहित होते हुए देखें।

९- संपूर्ण ब्रह्मांड को अपनी प्रेममय ऊर्जा से ढक दें। उन लोगों को प्रेम और सौहार्द की भावना से देखें, जो आपके जीवन का हिस्सा हैं। अपने रिश्तों में उस भाव को देखें जो आप चाहते हैं। अपने जीवन के हर हिस्से को प्रेम और सुख से ओत प्रोत करें।

१०- Chit Shakti Meditation ध्यान को जिस तरह ऊपर ले गए थे, धीरे धीरे वापस अपने शरीर और उस स्थान पर लाएं, जहां आप बैठे हैं। फ़िर आराम से आंखें खोलें।

Chit Shakti Meditation for Peace in Hindi शांति के लिए चित शक्ति ध्यान

Chit Shakti Meditation for Peace in Hindi image

Step १,२,३,४ ऊपर की भांति करें।

५- Chit Shakti Meditation स्वयं को उस स्थान से, जहां आप बैठे हैं ऊपर उठता हुआ देखें। आकाश मार्ग से जाते हुए आस पास के वातावरण का निरीक्षण करें।

६- एक बड़े से तालाब के पास, जहां पर बैठने के लिए बेंच भी है, नीचे उतरे। उस बेंच पर जाकर बैठें तथा तालाब के पानी पर ध्यान दें। पानी बिल्कुल भी शांत है, कोई हलचल नहीं।

७-Chit Shakti Meditation  सुखद वातावरण तथा शांत तालाब के जल को ध्यान से देखें। महसूस करें किस तरह जल की शांति आपके मस्तिष्क में चल रहे उद्वल विचारों को शांत कर रही है।

८- थोड़ी देर तक जल को निहारने के बाद आंखें बंद करें तथा उस शांति का अनुभव अपने मन में करें। आप पाएंगे विचारों की तीव्र खत्म सी होने लगी है। सब कुछ शांत और सुखद लगने लगा है। थोड़ी देर बाद आंखें खोलें, तालाब की शांति का अनुभव लें, फिर आंखें बंद कर उस अनुभव को अपने मन में महसूस करें।

९- जितनी देर तक इस अनुभव में आपका मन खोया है, इसे दोहराते रहें। फिर स्वयं को उसी मार्ग से वापस अपने शरीर में ध्या लेकर आएं। आंखें खोलने के बाद भी कुछ डर तक उस अनुभव को मन में दोहराएं जो तालाब किनारे बैठकर किया था।

Chit Shakti Meditation Results चित शक्ति ध्यान के परिणाम तथा लाभ

यह ध्यान अत्यंत प्रभावी है किन्तु इसका गहरा अनुभव करने के लिए दिन में दो बार करें। सबसे बढ़िया समय सुबह उठने के तुरंत बाद तथा रात को सोने के पहले का है।

जिस उद्देश्य से आप Chit Shakti Meditation ध्यान का अभ्यास करेंगे, उस दिशा में आपको परिणाम मिलेंगे। बशर्ते, कुछ दिनों तक इसका निरंतर अभ्यास आवश्यक है।

My Experience of Chit Shakti Meditation चित शक्ति ध्यान और मेरा अनुभव

कई सालों तक मैं माइग्रेन (एक प्रकार का सिरदर्द) का शिकार रही हूं। पहला अनुभव विपश्यना अभ्यास के दौरान हुआ था कि किस प्रकार किसी भी प्रकार के दर्द से निजात मिल सकती है।

विपश्यना के बारे में आप नीचे लिंक पर जाकर विस्तार से पढ़ सकते हैं।

What is Vipassana Meditation in Hindi: 11 Amazing Benefits of Vipassana

आज भी कभी कभी यह दर्द उठता है (जब मेरे खान पान या दिनचर्या में कुछ गलत हो जाता है) तो मैं चित शक्ति ध्यान का अभ्यास करती हूं। मेरा मायग्रेन मेरे पाचन तंत्र से जुड़ा है इसलिए मैं स्वास्थ्य Chit Shakti Meditation चित शक्ति ध्यान का अभ्यास करती हूं। मुझे इसके जादुई प्रभाव देखने के लिए मिले हैं।

यदि आपको किसी भी प्रकार की बीमारी नहीं भी है तो भी इस ध्यान को दिनचर्या में शामिल करना चाहिए। क्योंकि स्वास्थ्य सबसे कीमती धन है।

Final Words: चित शक्ति ध्यान Chit Shakti Meditation की सारी विधियां और कमेंट्री सद्गुरु के मोबाइल एप्लिकेशन पर उपलब्ध हैं। यदि आप चाहें तो ध्यान के समय उस कमेंट्री का प्रयोग कर सकते हैं। सद्गुरु की आवाज़ आपको मदद करेगी और आप बेहतर अनुभव कर पाएंगे।

उम्मीद है आपको इस आर्टिकल में सब कुछ अच्छे से समझ में आया होगा। यदि कोई सवाल हो तो आप कॉमेंट करके पूछ सकते हैं। इस पोस्ट को दूसरों के साथ भी साझा करें। किसी की सबसे बड़ी मदद उसे सही राह दिखाना है।

ज्ञान बांटने से कई गुना बढ़ता है 🙂

Leave a Reply

%d bloggers like this: